Search Lok Sabha MPs Performance Click here
parliament
CURRENT SESSION
v/s PREVIOUS SESSION
Search Lok Sabha MPs Performance   Click here

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लोजपा और राजद ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लोजपा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखा है।जिसमें कोरोना महामारी का हवाला देते हुए चुनाव स्थगित करने की मांग की है।वहीं राजद ने चुनाव स्थगित करवाने के नाम पर साधी चुप्पी।
    PB Desk    |    01 Aug 2020  |  06:15 PM

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य में सियासी पारा हाई हो गया है।सभी पार्टियां चुनाव की तैयारियों में जुट गई है।इस बीच विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लोजपा ने चुनाव आयोग को खत लिखा है और कोरोना महामारी का हवाला देते हुए अक्टूबर- नवम्बर में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को स्थगित किए जाने की मांग की है।पत्र में कहा गया है कि मौजूदा हालात में राज्य में चुनाव करवाने से लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है।वहीं राजद ने आयोग को पत्र तो लिखा है लेकिन उसने पत्र में सिर्फ कोरोना संक्रमण की स्थिति को भयावह बताया है और विधानसभा चुनाव स्थगित करने के नाम पर चुप्पी साध ली है।मामले में उसने फैसला आयोग पर छोड़ा है।

Main
Points
विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लोजपा-राजद का पत्र
आयोग को पत्र लिखकर चुनाव स्थगित करने की मांग
महामारी का हवाला देते हुए आयोग को लिखा खत

वैश्विक महामारी फैलने का खतरा

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने महामारी के मद्देनजर सभी पार्टियों से सुझाव मांगे थे।पार्टी ने 12 बिंदुओं में अपना जवाब आयोग को भेजा है।पत्र में जिक्र किया गया है कि कोरोना महामारी बिहार और देश के अन्य भागों में विकराल रूप ले चुकी है। विशेषज्ञों की माने तो अक्टूबर-नवंबर में चुनाव होने से महामारी का खतरा बढ़ेगा।ऐसी स्थिति में सबकी प्राथमिकता लोगों को महामारी से बचाने की होनी चाहिए।

बाढ़ का भी किया जिक्र

इसके अलावा पार्टी ने अपने खत में बाढ़ का भी जिक्र किया है।पत्र में लिखा गया है कि फ़िलहाल 38 में से 13 ज़िले पूरी तरह बाढ़ से प्रभावित हैं। इसके चलते विश्व स्वास्थ्य संगठन और आईसीएमआर के प्रोटोकॉल और दिशानिर्देशों का पालन करते हुए चुनाव कराना अत्यंत कठिन होगा।साथ ही पत्र में यह भी लिखा,’ लोकतंत्र में निष्पक्ष चुनाव ज़रूरी है लेकिन इसके लिए एक बड़ी आबादी को ख़तरे में डालना अनुचित है।‘ पार्टी के मुताबिक, हालात सुधरने पर चुनाव आयोग को फिर से समीक्षा कर चुनाव का फ़ैसला करना चाहिए।

आरजेडी ने आयोग पर छोड़ा फैसला

उधर, आरजेडी ने चुनाव आयोग को पत्र तो लिखा है लेकिन इस पत्र में सिर्फ महामारी का जिक्र किया है। चुनाव को स्थगित करने की बात पर आरजेडी चुप्पी साधे हुए है।आरजेडी ने भी पत्र में कोरोना संक्रमण की स्थिति को भयावह बताया है। इसके अलावा आरजेडी ने विधानसभा चुनाव को लेकर फैसला चुनाव आयोग पर छोड़ दिया है। आरजेडी के मुताबिक, अक्टूबर-नवंबर तक बिहार में कोरोना के 10 लाख से ज्यादा मामले सामने आने की संभावना है। बता दें, 10 जुलाई को आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा था कि लाशों के ढ़ेर पर चुनाव नहीं करवाया जा सकता और इसलिए चुनाव स्थगित होना चाहिए।जिसके बाद बीजेपी और जेडीयू ने तेजस्वी यादव पर चुनाव में हार के डर से मैदान से भागने का आरोप लगाया था।वहीं अब उनका रुख विधानसभा चुनाव को लेकर विपरित है।

Tags:
Bihar   |  AsseblyElection   |  Politics   |  Guideline   |  RJD   |  LJP
और ख़बरें पढ़ने के लिए

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP