Search Lok Sabha MPs Performance Click here
parliament
CURRENT SESSION
v/s PREVIOUS SESSION
Search Lok Sabha MPs Performance   Click here
कोरोना के बीच चीन ने क्यों की रक्षा खर्चे में बढ़ोतरी इस साल भी चीन ने अपनी रक्षा खर्चे में 6 फीसदी से ज्यादा बढ़ोतरी की घोषणा की है। हालांकि पिछले साल के मुकाबले यह बढ़ोतरी कम है।
    PB Desk    |    22 May 2020  |  07:13 PM

देश की अर्थव्यवस्था चाहे कितनी ही प्रभावित क्यों न हो रक्षा एक ऐसा क्षेत्र है जिसके लिए बजट का आवंटन करना अनिवार्य सा लगता है खासतौर से चीन जैसे विस्तारवादी नीति के देश में । अंग्रेजी अखबार द हिंदू ने अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी एपी के हवाले से लिखा कि इस साल भी चीन ने अपनी रक्षा खर्चे में 6 फीसदी  से ज्यादा बढ़ोतरी की घोषणा की है। पिछले साल के मुकाबले हालांकि यह बढ़ोतरी कम है। सरकार ने बताया है कि कोविड-19 की वजह से अर्थव्यवस्था बहुत ज्यादा प्रभावित हुई है इस वजह से खर्चे में कटौती की गई है।

एक वक्त था जब चीन के रक्षा बजट में बढ़ोतरी दोहरे अंकों में देखी जाती थी और यह अमेरिका के बाद दूसरा सबसे बड़ा बजट होता था।

Main
Points
चीन के रक्षा खर्च में 6 फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी
महामारी से बुरी तरह प्रभावित है चीनी अर्थव्यवस्था
पहली तिमाही में 6 फीसदी से ज्यादा सिकुड़ी है अर्थव्यवस्था
रक्षा क्षेत्र में शी जिनपिंग की प्राथमिकताओं को दर्शाता है यह कदम

बजट में बढ़ोतरी की संभावना 

गौरतलब है कि चीन के पास दुनिया की सबसे बड़ी सेना है और पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने अपने तरकश में बहुत सारे नए तीर जमा किए हैं जिनमें लड़ाकू विमान, परमाणु हथियारों से लैस पनडुब्बी और साथ ही अन्य आधुनिक उपकरण शामिल है। चीन का कहना है कि यह बढ़ोतरी सेना को और बेहतर बनाने के लिए की गई है।  वहीं विशेषज्ञों का मानना है कि खर्चे में बढ़ोतरी और ज्यादा हो सकती है क्योंकि बहुत सारे ऐसे सामान है जो औपचारिक तौर पर सूचीबद्ध नहीं किए गए हैं।

चीन क्या चाहता है 

गौरतलब है कि कोविड-19 की वजह से चीन की अर्थव्यवस्था साल के पहले तिमाही में लगभग 6.8 फीसदी  तक सिकुड़ गई है ,लेकिन इसके बावजूद रक्षा खर्चों में इस तरीके की बढ़ोतरी भले ही वह छोटी ही क्यों ना हो साफ तौर पर दर्शाता है कि शी जिनपिंग के लिए यह क्षेत्र कितना महत्वपूर्ण है। इसकी मदद से चीन भारतीय महासागर , दक्षिण चीन सागर, और पश्चिमी प्रशांत महासागर में अपना प्रभुत्व स्थापित कर पाएगा।

सच यही है कि वायरस का प्रकोप भी शी जिनपिंग के चीन को प्राथमिक क्षेत्रीय शक्ति के रूप में स्थापित करने के उद्देश्य से डिगा नहीं पाया है। गौरतलब है कि चीन की सेना ने कोविड-19 महामारी के दौरान राहत कार्य पहुंचाने, स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने एवं अन्य कार्यों में बड़ी भूमिका निभाई थी।

चीनी अधिकारियों का कहना है सरकार सेना, जनता और सरकार के बीच एकता सुनिश्चित करते हुए रक्षा उपकरणों में सहायता को मजबूत करेगी और रक्षा-संबंधित विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विकास को बढ़ावा देगी।

Keywords:
#Covid19   |  #China   |  #DefenceExpenditure
और ख़बरें पढ़ने के लिए

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP