Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

दिल्ली में कम हुए कंटेनमेंट जोन , सभी जिले रेड जोन में

दिल्ली के कंटेनमेंट जोन में कमी आई है। दिल्ली के चार क्षेत्र कंटेनमेंट जोन की सूची से बाहर कर दिए गए हैं। स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर लोगों की जांच करेंगे। दिल्ली के सभी 11 जिले रेड जोन की श्रेणी में।

Manmeet Singh
Manmeet Singh | 02 May, 2020 | 12:28 pm

भारत में लॉकडाउन 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। दिल्ली के सभी 11 जिले रेड जोन घोषित किए गए हैं। इस लिहाज से दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुरुग्राम, सोनीपत, पलवल को कोई राहत नहीं मिली है। इन इलाकों में उद्योग धंधों को भी कोई राहत नहीं मिली है। इस बीच थोड़ी राहत देने वाली बात यह है कि दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या में कमी आई है। 100 से अधिक कंटेनमेंट जोन वाले दिल्ली में अब 97 कंटेनमेंट जोन है। 

Main
Points
दिल्ली में कंटेनमेंट जोन घटकर 97 हुए
14 दिनों में 3 बार होगी लोगों की स्क्रीनिंग
घर-घर जाकर जांच करेंगे स्वास्थ्यकर्मी
दिल्ली के सभी 11 जिले हैं रेड जोन की सूची में

कौन से क्षेत्र हुए बाहर

दिल्ली के चार क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिया गया है। इनमें पूर्वी दिल्ली के वसुंधरा एंक्लेव का मनसारा अपार्टमेंट जिसे 31 मार्च को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था, दक्षिण पूर्व दिल्ली के ईस्ट ऑफ कैलाश के ई ब्लॉक को जिसे 12 अप्रैल को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था, पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार फेस वन एक्सटेंशन का वर्धमान अपार्टमेंट और पटपड़गंज के आईपी एक्सटेंशन का मयूरध्वज अपार्टमेंट जिसे 3 अप्रैल को कंटेनमेंट घोषित किया गया था फिलहाल इन्हें कंटेनमेंट जोन की सूची से बाहर कर दिया गया है।

सघन जांच 

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक कंटेनमेंट जोन में रहने वाले व्यक्तियों की 14 दिनों के अंदर तीन बार स्क्रीनिंग की जाएगी। दिल्ली सरकार ने भी कहा है कि यदि कंटेनमेंट जोन में रहने वालों की स्क्रीनिंग नहीं हुई है तो इस आदेश के जारी होने के 3 दिन के अंदर पूरी हो जानी चाहिए।

दिल्ली सरकार ने अपने आदेश में यह भी कहा कि इन इलाकों में रहने वाले लोगों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। इन क्षेत्रों में रह रहे वरिष्ठ नागरिकों की खासतौर पर निगरानी कर अलग डाटाबेस तैयार किया जाए।सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है कि अगर किसी कंटेनमेंट जोन की जनसंख्या 10 हजार से अधिक है तो ऐसे इलाकों में एक माइक्रो लेवल प्लान बनाकर सरकार के स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर और सारे सेफ्टी प्रोटोकॉल फॉलो कराए जाएंगे। इन सभी के साथ गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुरुप कंटेनमेंट जोन बने इलाकों में किसी भी प्रकार की मूवमेंट को रोकने के इंतजाम किए जाएंगे।

बढ़ते मामले

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोरोनावायरस  संक्रमण  की संख्या बढ़कर 3500 के पार पहुंच चुकी है और 60 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को केंद्र सरकार द्वारा जारी सूची में दिल्ली के सभी 11 जिले रेड जोन घोषित किए गए हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री डॉ सत्येंद्र जैन ने कहा है कि रेड जोन में रहने वाले सभी व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की जाएगी और स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर लोगों की जांच करेंगे।

Tags:
Delhi   |  containmentzone   |  Corona Virus   |  red zone   |  government   |  of Delhi

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP