Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

किसके डर से 8 हजार करोड़ रुपया यात्रियों को वापिस देंगीं एयरलाइंस?


Riya Rai
Riya Rai | 17 Apr, 2020 | 6:23 pm

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश में 3 मई तक लॉकडाउन है| लॉकडाउन की वजह से यात्रियों के कैंसिल टिकट को लेकर सरकार ने सख्ती दिखाई है| नागर विमानन महानिदेशालय ने लॉकडाउन के दौरान जिन भी यात्रियों के टिकट कैंसिल हुए हैं उनके पूरे पैसे  वापस करने के सख्त निर्देश दिए हैं|ऐसे में अब इस मामले में एयरलाइंस को मनमानी की कोई गुंजाइश नहीं है|

Main
Points
एयरलाइंस को DGCA का सख्त निर्देश
तीन हफ़्तों में वापस करें यात्रियों का पूरा पैसा-DGCA
DGCA ने टिकट कैन्सिलेशन चार्ज भी वसूल न करने के दिए निर्देश
यात्रियों के पैसे लौटाने को तैयार नहीं थीं एयरलाइंस
दूसरे चरण के लॉक डाउन के वजह से सभी उड़ानों पर लगी है रोक

DGCA ने जारी किए निर्देश

कैंसिल टिकट के मामले में नागर विमानन महानिदेशालय ने सभी एयरलाइन्स को कहा है की एयरलाइंस लॉकडाउन के पहले चरण यानी 25 मार्च से 14 अप्रैल के बीच ग्राहकों के कैंसिल टिकट का पूरा पैसा कैन्सिलेशन रिक्वेस्ट प्राप्त करने के तीन हफ्ते के भीतर वापस करें| साथ ही DGCA ने ये भी स्पष्ट किया है की एयरलाइन्स इस मामले में ग्राहकों से किसी तरह का कैन्सिलेशन चार्ज नहीं ले सकती। साथ ही एयरलाइंस को उन ग्राहकों का भी पैसा बिना किसी कैन्सिलेशन चार्ज के वापस करना होगा जिन्होंने पहले चरण के लॉक डाउन के दौरान टिकट कैंसिल होने के बाद फिर से दूसरे किसी तारीख के लिए टिकट बुक कराया था|

नागर विमानन महानिदेशालय ने ट्विटर पर दी जानकारी

नगर महानिदेशालय ने ट्विटर पर कहा की यह आदेश घरेलु और अंतर्राष्ट्रीय दोनों रूट के यात्रियों और एयरलाइंस के लिए है|

ग्राहकों के 8 हजार करोड़ हड़प कर बैठी हैं एयरलाइंस

देश में दूसरे चरण का लॉकडाउन 3 मई तक लागू है और इसकी वजह से एयरलाइंस ने सभी उड़ानों पर फिर से रोक लगा दी गई है| कई एयरलाइंस ने 14 अप्रैल के बाद से टिकट की बुकिंग भी शुरू कर दिए थे और अब दूसरे चरण के लॉकडाउन के बाद वो ग्राहकों के पैसे वापस करने को तैयार नहीं हैं|

एजेंटो से हुई एयरलाइंस की किचकिच

इसको लेकर एजेंटों की उनसे खूब किचकिच हुई है| एजेंटो के मुताबिक जब एयरलाइन्स पैसे देने को तैयार नहीं है ऐसे में ग्राहक शिकायत लेकर पुलिस के पास पहुँच गए हैं| विमानन कंपनियों ने इसके पहले 25 मार्च से 14 अप्रैल की अवधी के लिए बुक किए गए टिकटों की राशि लौटाने के बजाय ग्राहकों को दूसरे तिथियों की टिकट बुक करने की सुविधा दी थी| एयर इंडिया को छोड़कर अधिकतर विमानन कंपनियों ने 14 अप्रैल के बाद के समय के लिए घरेलू उड़ानों की बुकिंग भी जारी रखी थी| लेकिन एयरलाइंस ग्राहकों को पैसा देने के बजाय आगे यात्रा करने का विकल्प दे रही है| इसके लिए क्रेडिट शेल ऑफर कर रही थी जिस पर यात्री लॉक डाउन के बाद यात्रा कर सकते थे।  अनुमान के मुताबिक ऐसे में एयरलाइंस के पास इस तरह का करीब 8 हजार करोड़ रुपया पड़ा हुआ है और जिसे देने के लिए एयरलाइन्स तैयार नहीं थीं|

Tags:
Corona   |  Lockdown   |  India   |  airlines   |  customor   |  DGC   |  Ainactionmode

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP