Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

क्या हाईड्रोक्सोक्लोरक्वीन की खुराक ज़्यादा मज़बूत बना देगी भारत -अमेरिकी संबंध ?

कोरोना लड़ाई में ‘गेमचेंजर’ हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन दवा ने मचाई सभी देशों में अफरा-तफरी, भारत से इस दिशा में सहयोग की मांग, भारत में सबसे अधिक मात्रा में बनती है यह दवा, लगभग हर महीने 40 मिट्रिक टन HCQ भारत में प्रोडयूस होती है, जिनमें से केवल 24 टन भारत में इस्तेमाल होती हैं।

Archna jha
Archna jha | 11 Apr, 2020 | 7:29 pm

हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन(HYDROXYCHLOROQUINE)-ये नाम आज किसी भी देश या वर्ग के लिए अन्जाना नहीं रह गया है। क्योंकि हाल ही में, कोरोना से लड़ाई में ‘गेमचेंजर’ माने जाने वाली इस दवा पर कुछ देशों ने भारत को अपने राजनैतिक पैंतरें दिखाने की भरपूर कोशिश की, जिनमे चीन, ब्राज़ील और अमेरिका प्रमुख हैं।

Main
Points
हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन को लेकर तमाम देशों ने भारत से की मदद की गुहार
निर्यात पर लगी रोक को हटाने के लिए अमेरिका ने अपनाया पहले नर्म तो फिर सख्त रवैया
भारत ने 30 देशों को HCQ उपलब्ध कराने का दिया भरोसा

एक ओर, ब्राज़ील के राष्ट्रपति बोलसोनारो ने पीएम मोदी को हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन दवा के उत्पाद के लिए जरुरी कच्चे माल की आपूर्ति का भरोसा दिलाया। क्योंकि, HCQ के उत्पादन के लिए भारत चीन के बाद ब्राज़ील से सबसे ज्यादा कच्चा माल खरीदता है। वहीं, दूसरी ओर ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन के प्रोडक्शन में  चीन अड़ंगा डाल सकता है दरअसल, HCQ बनाने के लिए भारत को जिन एक्टिव फार्मास्यूटिकलस् इंग्रीडिएंट्स (API) की जरुरत पड़ती है। उस HCQ  का 70% API चीन सप्लाई करता है। हालांकि अभी तक चीन की तरफ से इस प्रक्रिया में कोई रुकावट नहीं आई है, परन्तु कोरोना को लेकर अमेरिका से हो रहे मनमुटाव के चलते चीन संभवत: हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन के प्रोडक्शन में अड़ंगा डाल सकता है।

HCQ को लेकर अमेरिका ने भी अपनाये तमाम हथकंड़े

पूर्व में, कोरोना महामारी से बेहाल अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने पीएम मोदी को फोन करके इस दवा के लिए गुहार लगाई थी, और रोकी गयी हाइड्रोक्सोक्लोरोक्वीन की खेप को जारी करने का भी आग्रह किया था। इसके साथ ही, ट्रंप ने यह भी संकेत दिये, कि भले ही भारत ने दूसरे देशों पर इस दवा के निर्यात के लिए प्रतिबंध लगा रखे हों, परन्तु भारत और अमेरिका के बीच बेहतरीन व्यवसायिक संबंधों के बावज़ूद यदि भारत ने अमेरिका के लिए HCQ दवा से यह प्रतिबंध नहीं हटाया, तो अमेरिका निश्चित ही जवाबी कार्रवाई कर सकता है। बहरहाल, इन तमाम व़ाकयों के बाद भारत ने अमेरिका के साथ-साथ बाकि 30 देशों को भी हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन के निर्यात का निर्णय ले लिया है। जिसके बदले में ट्रंप ने ट्वीट के ज़रिये भारत के इस मानवतापूर्ण निर्णय का न केवल स्वागत किया, बल्कि खूब तारीफ भी की। दरअसल, HCQ के बाहरी देशों को निर्यात पर लगाई जाने वाली रोक को हटाने से पूर्व भारत सरकार तमाम घरेलू प्राईवट कम्पनियों से बात कर हाईड्रोक्सोक्लोरोक्वीन की प्रोडेक्शन में बढ़ोतरी एंव वर्तमान स्टाँक को सुनिश्चित कर लेना चाहती थी।

भारत को भी होगी भविष्य में अमेरिका से कुछ उम्मीद

वर्तमान में, कोविड-19 के टेस्ट के लिए सबसे बेहतरीन CUTTING EDEG TESTING EQIPPMENTS अमेरिका के पास है। जिसके चलते वहां अधिक जांच हो रही हैं। अब अमेरिका ने भरोसा दिलाया है कि वह यह किट भारत को उपलब्ध कराएगा। 

IPCA, ZIDUS जैसी बड़ी भारतीय दवाई कम्पनियों को यूएस बाजार में जगह मिलना।

वर्तमान में अमेरिकी एंटी-बायोटिक्स के व्यवसाय पर कहीं न कहीं चीन का आधिपत्य है। ऐसे में भारत सस्ती ज़मीन और मज़दूरी का आश्वासन देकर, अमेरिका से यह व्यवसाय भारत में शिफ्ट करने की मांग कर सकता है।

कोरोना की वजह से खराब हालात के चलते इरान ने भी भारत से मदद की गुहार लगाई थी। जिसके चलते भारत इरान से क्च्चे तेल को खरीदने के लिए अमेरिका से मंज़ूरी की मांग कर सकता है। 

भविष्य में भारत API बनाने के लिए अमेरिका से आधुनिक तकनीकों की मांग कर सकता है। जिससे न केवल भारत की चीन पर निर्भरता कम होगी। बल्कि कहीं न कहीं पर्यावरण भी प्रदुषित होने से बचेगा।

जिस प्रकार NISAR प्रोजेक्ट पर NASA और ISRO मिल कर काम कर रहे हैं, भारत अमेरिका से यह गुहार लगा सकता है कि आगे भी नवीन तकनीकों के साथ दोनों देश अन्य प्रोजेक्टस् पर साथ काम करें।

वर्तमान में अमेरिका ने पेरिस क्लाइमेट एग्रीमेंट से अपनी भागीदारी हटा ली है। ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि अब भारत इस संदर्भ में अमेरिका से व्यक्तिगत सहयोग की मांग करे। साथ ही, अमेरिका सौर ऊर्जा, वायु ऊर्जा और हाईड्रो पावर के विषय में भी अमेरिका का सहयोग मांगे।

Tags:
Covid 19   |  Hydroxochloroquine   |  America Changing Behavior   |  India   |  HCQ Supply

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP