Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

चीन ने उठाया पाकिस्तान से दोस्ती का गलत फ़ायदा


Alisha
Alisha | 24 Apr, 2020 | 4:53 pm

कोरोना वायरस का ख़तरा  पूरी दुनिया में फैलने की वजह से दुनिया में तरह तरह की रिसर्च की जा रहीं है| दुनिया भर के वैज्ञानिक कोरोना वायरस को  खत्म करने का प्रयास कर रहें है| दरअसल, चीन से शुरू हुई इस महामारी के लिए खुद चीन ने इससे निपटने के लिए वैक्सीन का निर्माण किया है, जिस वैक्सीन का ट्रायल पाकिस्तान में अगले तीन महीनों में किया जायेगा|

Main
Points
चीन ने मदद के नाम पर पाकिस्तान को दिया धोखा
एन-95 मास्क मांगने पर दिए अंडरगारमेंट्स से बने मास्क
पाकिस्तान में चीन करेगा वैक्सीन ट्रायल
ट्रायल में मरीज़ो के मरने की आशंका
ट्रायल के बाद और भी फ़ैल सकती है बीमारी

चीन को ट्रायल करने के ज़रिये ये जानने की कोशिश करनी है कि, ये वैक्सीन covid-19 के मरीज़ के लिए कितनी कारगर साबित होगी,और इसका कोई दुष्प्रभाव तो नहीं होगा| पाकिस्तान के  न्यूज़ चैनल 92 न्यूज़ में पाकिस्तान के नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ हेल्थ के मेजर जनरल डॉ. आमिर इकराम ने कहा कि, चीन ने वैक्सीन ट्रायल का काम पाकिस्तान में शुरू कर दिया है, आशा है की आने वाले समय में पाकिस्तान में ये वैक्सीन लॉन्च कर दी जाएगी|

वैक्सीन को मिली कई संस्थानों की मान्यता

डॉ इकराम ने कहा कि, बहुत सारी कंपनी वैक्सीन बनाने की खोज कर रहीं है, लेकिन सबसे पहले इसकी खोज चीन ने कर ली है| उन्होंने ये भी बताया कि, ऐसी वैक्सीन खोजने में वैज्ञानिकों को 8 से 10 साल लग जाते हैं, पर चीन ने इस वैक्सीन पर सबसे पहले काम  कर के जीत हासिल की है| असल में चीन अपनी वैक्सीन का क्लीनिकल  ट्रायल  पाकिस्तान के कोरोना संक्रमित मरीज़ों पर करने जा रहा है| आपको बता दें जब किसी वैक्सीन का ट्रायल करने की बात की जाती है, तो मानो ख़तरा बढ़ जाता है क्यूंकि, मरीज़ की जान भी जा सकती है और बीमारी  ज़्यादा फैल सकती है| इन सब खतरों को जानते हुए भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने चीन को हाँ करने के बाद अपने नागरिकों  की जान दांव पर लगा दी है|

वुहान में चल रहा है इस टिके का परीक्षण

कोरोना वायरस के जन्मस्थान वुहान में इस वैक्सीन का परीक्षण 16 मार्च से चल रहा है| चीन के रिसर्चर ने दावा किया है कि, इस वैक्सीन पर काम बहुत तेज़ी के साथ किया जा रहा है|  हालांकि इसके परिणाम की घोषणा अप्रैल में की जाएगी| चीनी मिलिट्री साइंस अकादमी के शौधकर्ता चेन ने कहा कि, आने वाले समय में इस वैक्सीन का परीक्षण अन्य देशों में भी किया जायेगा|

पहले भी चीन ने पाकिस्तान के साथ किया था मज़ाक

आपको बता दें कुछ समय पहले से पाकिस्तान में फैले कोरोना वायरस को लेकर वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान ने चीन से मदद मांगी थी, पर मदद मांगे जाने पर पाकिस्तान को चीन से मिला था धोका| दरअसल, चीन ने पाकिस्तान में मास्क को लेकर भारी  मांग के नाम पर अंडरगारमेंट्स से बने मास्क का निर्यात कर दिया था|  यहां तक की वहां  के डॉ. ने इन मास्क को पहनने से इंकार कर दिया था| सिर्फ इतना ही नहीं पाकिस्तान के अलावा और भी देश चीन के मेडिकल इक्विपमेंट्स को लेकर शिकायत कर चुकें है| इसी वजह से नीदरलैण्ड और स्पेन ने चीन से मेडिकल सप्लाई की मदद लेने से इंकार कर दिया है| अब देखने वाली बात यह है, कि इतने धोखे के बाद भी पाकिस्तान ने चीन को ट्रायल करने की मंज़ूरी दे दी है|

Tags:
Covid-19   |  pakistan   |  China   |  trail   |  vaccine   |  mask   |  medical equipment

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP