Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

लॉकडाउन के बाद मेट्रो-एयरपोर्ट का बदलेगा हाल!

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने लॉकडाउन के बाद मेट्रो और एयरपोर्ट को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार को ब्लूप्रिंट भेजा है। इस प्रस्ताव में सुरक्षा, हर यात्री की जांच, एयरपोर्ट पर समय से पूर्व आने और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कई अहम मुद्दों पर खास ध्यान दिया गया है।

Suyash Tripathi
Suyash Tripathi | 24 Apr, 2020 | 2:54 pm

कोरोना वैश्विक महामारी का खतरा थमने का नाम नहीं ले रहा है, दुनिसाभर में कोरोना से तबाही का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। कोरोना से मरनों वालों का आंकड़ा 2 लाख के करीब पहुंच चुका है, तो वहीं इसकी चपेट में अब तक करीब 27 लाख लोग आ चुके हैं। विश्व के ज्यादातर देश कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन का साहारा ले रहे हैं। भारत में भी लॉकडाउन की अवधि को 3 मई तक बढ़ा दिया गया था। लॉकडाउन खुलने के बाद भी हालात सही होने के आसार नजऱ नहीं आ रहे हैं। दुनियाभर के शोधकर्ताओं और विशेषज्ञों का मानना है कि 2022 तक कोरोना महामारी का संकट बरकरार रहेगा, ऐसे में हालात को मद्देनज़र रखते हुए  केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने केंद्र सरकार को 3 मई के बाद का प्लान भेजा है। इसमें मेट्रो और एयरपोर्ट को सुचारु रुप से काम में लाने के बारे में कुछ सुझाव भी शामिल हैं।

Main
Points
केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने सरकार को भेजा लॉकडाउन के बाद का प्लान
मेट्रो और एयरपोर्ट की सुरक्षा को लेकर बनाया प्लान
मेट्रो में यात्रियों को जांच से पहले शरीर से धातु की चीजों को हटाना होगा
मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना अनिवार्य होगा
यात्रियों को एयरपोर्ट पर 2 घंटे पहले आना होगा

क्या है CISF का प्लान-

बता दें कि लॉकडाउन की वजह से देशभर में सभी मेट्रो और एयरपोर्टस् को बंद कर दिया गया था। जिससे आवागमन और सामाजिक दूरी को नियंत्रित किया जा सके, लेकिन अब मेट्रो और एयरपोर्टस् की सुरक्षा करने वाले केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने लॉकडाउन  के बाद का ब्लूप्रिंट सरकार को भेज दिया है। सीआईएसएफ की ओर से कड़ी सुरक्षा, हर यात्री की जांच, एयरपोर्ट पर समय से पूर्व आने और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कई अहम मुद्दों पर सुझाव केंद्र सरकार को भेजा गया है। दिल्ली मेट्रो के 150 से अधिक स्टेशनों पर करीब 12 हजार से अधिक सीआईएसएफ के जवान तैनात रहते हैं, जो सुरक्षा का जिम्मा संभालते हैं।

सीआईएसएफ की ओर से DMRC तथा शहरी विकास मंत्रालय को दिल्ली मेट्रो के लिए प्लान भेजा गया है। सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन ने कहा है कि, “हमने पहले सुरक्षित हवाई यात्रा पोस्ट-लॉकडाउन के दिशानिर्देशों को तैयार किया था। अब सीआईएसएफ मेट्रो क्षेत्र की सुरक्षा के लिए एसओपी भी तैयार कर रहा है। हम एक ऐसी प्रणाली लगाने पर काम कर रहे हैं जो भीड़ में किसी भी यात्री पर तत्काल प्रतिक्रिया दे सकेगी।हम थर्मल स्कैनर की भी मदद लेगे।थर्मल स्कैनर भीड़ में उच्च तापमान का पता लगाने, तेजी से प्रतिक्रिया को सक्षम करने और प्रतिक्रिया समय में कटौती करने पर अलार्म भेजने के लिए इस्तेमाल होगा।”

दिल्ली मेट्रो के लिए प्लान में शामिल कुछ मुख्य बातें हैं जिनमें-

* यात्रियों को जांच से पहले शरीर से धातु की चीजों को हटाना होगा

* जिन यात्रियों में फ्लू के लक्षण होंगे, उन्हें यात्रा की अनुमति नहीं मिलेगी

* मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना अनिवार्य होगा

सीआईएसएफ ने एयरपोर्ट की सुरक्षा को लेकर भी नागरिक उड्डयन मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा है, जिसमें पीपीई किट की व्यवस्था, एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग, फ्लाइट के डिपार्चर टाइम में अंतर जैसी कई महत्वपूर्ण बिंदुओं को अंकित किया गया है। यात्रियों को एयरपोर्ट पर 2 घंटे पहले आने के लिए भी इस सुझाव में कहा गया है।

बता दें कि सीआईएसएफ भारत के सभी वाणिज्यिक हवाई अड्डों पर सुरक्षा का प्रभारी है। कोरोना संकट को देखते हुए सीआईएसएफ को कई और महत्वपूर्ण जगहों के सुरक्षा की जिम्मेदारी भी सौंपी गई है, जिनमें कुछ अस्पताल भी शामिल हैं। सीआईएसएफ कर्मी  जरूरतमंदों को भोजन, मास्क और राशन लगातार मुहैया कराने का काम कर रहे हैं। सीआईएसएफ अपने स्टॉक में फेस-मास्क, हैंड ग्लव्स, अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइज़र, पीपीई किट बढ़ा रहा है, ताकि 2-3 महीनों के लिए पर्याप्त संख्या में ये सारी चीजें उपलब्ध रहें।हवाई अड्डों पर कानून और व्यवस्था की स्थिति को संभालने वाली त्वरित प्रतिक्रिया टीमों को पीपीई किट भी दिया जा रहा है।

Tags:
Corona   |  Corona pandemic   |  CISF   |  Metro   |  Airports   |  Arogya Setu   |  Ind Govt

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP