Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

कोरोना महामारी के बीच सैलरी हाइक! कर्मचारियों की हुई बल्ले-बल्ले


Riya Rai
Riya Rai | 16 Apr, 2020 | 4:01 pm

कोरोना वायरस संकट से दुनिया के लगभग सभी देश जूझ रहे हैं| दुनिया के उद्योगों पर कोरोना वायरस का असर देखने को मिल रहा है| इस महामारी के वजह से पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था पर काफी प्रतिकूल असर पड़ा है| कोरोना महामारी के वजह से आर्थिक संकट से जुझ रही कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों की सैलरी में कटौती शुरू कर दी है, यहाँ तक की कई कंपनियों ने अपने यहां छंटनी शुरू कर दी हैं। जिसका साफ असर भारत में भी देखा जा सकता है। ऐसे आर्थिक संकट के बीच जब कंपनियों में छंटनी हो रही हों उस समय में कोई कंपनी अपने वर्कर्स की सैलरी बढ़ा दे तो यह बात आश्चर्यजनक लगती है| लॉक डाउन के वजह से ऐसे आर्थिक संकट के समय में भी कुछ ऐसी कंपनियां हैं जिन्होंने अपने यहां कार्यरत कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है|

Main
Points
कोरोना महामारी ने दुनिया की अर्थव्यवस्था को गहरे संकट में डाल दिया है
महामारी के बीच दुनिया में बहुत सी कंपनियों ने कर्मचारियों की छटनीं का फैसला किया है
लेकिन दुनिया की कुछ कम्पनियों ने कोरोना महामारी के बीच कर्मचारियों के वेतन में इजाफा किया है
आईटी क्षेत्र के कुछ अग्रणी कंपनियों ने वर्कर्स को सैलरी हाइक को तोहफा दिया है
आईटी कंपनी केपजेमिनी ने कार्यरत 70% भारतीय कर्मचारियों की बढ़ाई है सैलरी

केपजेमिनी ने अपने वर्कर्स की बढ़ाई सैलरी

जानकारी के मुताबिक फ्रांस की आईटी कंपनी केपजेमिनी ने इस आर्थिक महामारी के दौर में भी अपने कर्मचारियों के वेलफेयर के लिए कई कदम उठाएं हैं| इस कंपनी में करीब 2 लाख से अधिक वर्कर्स काम करते हैं, जिनमें से 1.2 लाख भारत में हैं|

केपजेमिनी के 70% भारतीय स्टाफ की सैलरी में इजाफा

एक रिपोर्ट के मुताबिक फ्रांस की इस आईटी कंपनी केपजेमिनी ने अपने यहाँ कार्यरत 70% भारतीय वर्कर्स यानि 84 हजार वर्कर्स का वेतन बढ़ा दिया है|

1 अप्रैल से लागू है सैलरी का नियम

रिपोर्ट के अनुसार कर्मचारियों की बढ़ी हुई सैलरी का नियम एक अप्रैल से लागू का दिया गया है| साथ ही आईटी कंपनी केपजेमिनि ने घोषणा की है कि अपने यहां काम कर रहे अन्य कर्मचारियों को भी इन्क्रीमेंट देगी जो जुलाई से लागू होगा| उन कर्मचारियों को नकद भत्ते के रूप में यह कंपनी 10 हजार रूपए दे रही है, जो बिना पीजी आवास के रह रहे हैं| साथ ही यह कंपनी नए कर्मचारियों की भी भर्ती कर रही है|

कॉग्निजेंट ने भी 25% वेतन बढ़ाने का लिया फैसला

केपजेमिनी से पहले आईटी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी कॉग्निजेंट ने भी अपने यहां कार्यरत कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने की घोषणा की थी| कोरोना संकट के बीच कॉग्निजेंट ने इस बात की घोषणा की है कि वो अपने असोसिएट और उससे निचले स्तर पर काम कर रहे कर्मचारियों को अप्रैल माह में बेसिक सैलरी के आधार पर 25% अधिक सैलरी देगी|

एक लाख 30 हजार वर्कर्स को लाभ

आईटी कंपनी कॉग्निजेंट के इस फैसले से करीब 1 लाख 30 हजार कर्मचारियों को लाभ मिलेगा| कंपनी के सीईओ ब्रायन हफ्रिज का कहना है की इस संकट के समय में भी कर्मचारी पूरी मेहनत और लगन से काम कर रहे हैं|

भारत पे ने भी कर्मचारियों की 20% बढ़ाई सैलरी

कोरोना संकट के बीच इन आईटी कंपनियों के अलावा डिजिटल पेमेंट स्टार्टअप भारत पे ने भी अपने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने का फैसला किया है| इस कंपनी ने वर्कर्स की सैलरी  20% बढ़ाने का फैसला लिया है| भारत पे के सीईओ ने इस बात की जानकारी दी की भारत पे ने हाल ही में अपने कर्मचारियों को एप्रेजल दिया है जिसमें कर्मचारियों को 20% सैलरी हाइक हो जाऐगी।

Tags:
Corona effect   |  Indian   |  workers   |  world   |  ecconomy   |  salary   |  incriment   |  IT   |  sector   |  companies   |  cognigent   |  BharatPay

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP