Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के सामने दंडवत ठाकरे सरकार

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का भविष्य राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की बंद मुठी में कैद है। राज्यपाल चाहे तो ठाकरे का भविष्य उज्वल करें और नहीं चाहे तो ठाकरे को कुर्सी से रुक्सत कर दें।

PB Desk
PB Desk | 29 Apr, 2020 | 4:56 pm

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का भविष्य राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की बंद मुठी में कैद है। राज्यपाल चाहे  तो ठाकरे का भविष्य उज्वल करें और नहीं चाहे तो ठाकरे को कुर्सी से रुक्सत कर दें। बड़ा ही विचित्र नजारा है। सूबे की राजनीति में शांति भी है और व्याकुलता भी। एक तरफ करोना से राज्य बेहाल है तो दूसरी  तरफ जैसे जैसे समय नजदीक आ रहा है ,ठाकरे की राजनीति कमजोर पड़ती जा रही है। माया का खेल यही है कि बड़े जतन से हासिल सीएम की कुर्सी कही हाथ से फिसल ना जाए।

Main
Points
राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की मुठी में कैद ठाकरे सरकार
उद्धव ठाकरे अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं
संजय राऊत ने राज्यपाल पर षड्यंत्र करने का लगाया आरोप

दरअसल, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं, जिसके कारण वे छह महीने से अधिक सीएम नहीं रह सकते हैं।  छह महीने की मियाद 28 मई को पूरी हो रही है और सूबे में करोना की वजह से  चुनाव आयोग ने चुनाव रद्द कर दिया है।  जिसके बाद माना जा रहा है कि अगर उद्धव किसी सदन के सदस्य नहीं बनें तो, उन्हें इस्तीफा देना पड़ेगा।

अपनी कुर्सी बचने के लिए ठाकरे पिछले कई दिनों से दाव खेल रहे हैं लेकिन राज्यपाल  हर बार ठाकरे के दाव को मटियामेट कर दे रहे हैं। जाहिर है बीजेपी नहीं चाहती की ठाकरे की सरकार  चल पाए।  अब एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सीएम की कुर्सी बचाने के लिए नया दांव खेला है, जिसके तहत आज एकबार फिर से कैबिनेट बैठक बुलाई गयी है। इस बैठक में सरकार को लेकर अस्थिरता से बचाने को लेकर नया प्रस्ताव पास किया जायेगा। कैबिनेट बैठक में चुनाव आयोग से एमएलसी चुनाव कराने की सिफारिश की जायेगी अगर आयोग सिफारिश को मान लेता है तो, महाराष्ट्र में विधानपरिषद का चुनाव होगा और उद्धव ठाकरे सीएम पद पर बनें रहेंगे। 27 मई से पहलू चुनाव कराने की बात है।  उधर ,शिवसेना नेता संजय राऊत ने राज्यपाल पर राजभवन से षड्यंत्र करने का आरोप लगाया है।  राऊत ने कहा कि बीजेपी के नेता बार-बार राजभवन जा रहे हैं, जिसके कारण राज्यपाल कैबिनेट के प्रस्ताव को रोक रखा है।  इससे राज्यपाल की छवि धूमिल हो रही है। 

उधर ,महाविकास आघाड़ी की सरकार ने  राज्यपाल कोटे से खाली सीटों के लिए उद्धव ठाकरे का नाम सुझा दिया और प्रस्ताव बनाकर राज्यपाल को भेजा दिया है हालांकि राज्यपाल ने अभी तक इसका जवाब नहीं दिया है।

Tags:
Corona   |   Maharashtra Govt   |  Uddhav Thackeray   |  Governor   |  Maharashtra   |   Bhagat Singh   |  Koshiyaari   |  Sanjay Raut

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP