Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

मेरठ में बढ़े कोरोना के मरीज, संख्या हुई 89, खुद मेरठ के सांसद क्वारेंटाइन

मेरठ में 86 से 89 हुई करोना पॉजिटिवों की संख्या । शुक्रवार को तीन और कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जिले में मरीज़ों की संख्या अब 89 हो गई है। इनमें से चार की मौत हो गई है और 30 की अस्पताल से छुट्टी भी हो गई है। बाकी का इलाज जारी है।

Abhishek Dubey
Abhishek Dubey | 25 Apr, 2020 | 7:53 pm

मेरठ जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार को 214 सैंपल की जांच में एक गर्भवती महिला सहित तीन केस पॉजिटिव पाए गये, जिसमें गर्भवती महिला इमलियान की है । गर्भवती महिला के परिवार के 16 और  12 जिला अस्पताल और महिला अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ को क्वारन्टीन किया है। वहीं सरधना और लखीपुरा क्षेत्र का एक-एक संपर्क का केस पॉजिटिव मिला है । मेरठ में 214 सैम्पलों की जांच हुई। अब जिले में 25 हॉट स्पॉट हो गए हैं। कुल संक्रमित केस बढ़कर 89 पर पहुंच गया है।

Main
Points
गर्भवती महिला समेत मेरठ में तीन और कोरोना पॉजिटिव
मेरठ में कोरोना पॉजिटिव की संख्या हुई 89
मेरठ के सांसद खुद क्वारेंटाइन में
जिले में सिर्फ एक ही कोरोना जांच केंद्र
एक हजार हर रोज़ है जा करने की क्षमता

सांसद खुद हुए क्वारेंटाइन

राजेंद्र अग्रवाल का कहना है कि वो लगातार अपने क्षेत्र में दौरा करते हैं, तैयारियों का जायज़ा लेते हैं पर पिछले 4 दिनों से वो होम क्वारेंटाइन में हैं। पार्टी के माहानगर के अध्यक्ष के साथ क्षेत्र में घुमना होता है इसी बीच पता चला कि उनके ड्राइवर को, उनके भाई को कोरोना है और ड्राइवर के पिता की मृत्यु भी कोरोना से हो गई, जिसके कारण मैं एहतियातन सीएमओ और प्रशासन के सलाह पर होम क्वारेंटाइन में हूं। और अगले 14 दिन तक होम क्वारेंटाइन में ही रहूंगा।

तबलीगी जमातियों की वजह से ही फैला है कोरोना-सांसद मेरठ

तबलिगी जमात के लोगों ने कोरोना को फैलाया और अभी भी उन्हे समझ में नहीं आ रहा है । इन्ही लोगों के वजह से मामले बहुत बढ़े हैं । उन्होने कहा कि देश के अंदर 60 से 70 प्रतिशत जो संक्रमण फैला है वो तबलिगी जमातियों की वजह से ही फैला है । मेरठ में जो मुस्लिम लीडर हैं उनको समझाने की कोशिश हो रही है कि घरों में ही नामाज करें, बाहर ना जाएं, भीड़ ना लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

कोरोना के फैलाव की गति में कमी

कोरोना मरीजों की बढ़ने की संख्या हर रोज़ एक, दो के आसपास है कई दिन तक तो एक भी केस नहीं बढ़े ।बढ़ने की गति तेज नहीं है । पूरे मेरठ में एक ही कोरोना जांच लैब है जो मेडिकल कॉलेज के अंदर है ,इस लैब में अपने जिले की जांच तो हो ही रही है इसके अलावा बाहर की भी जांच यहां आती है । इस लैब की क्षमता 1 हजार रोज जांच करने की है । जांच का आधार अभी सिर्फ लक्षण पर है, रैंडम जांच की अभी कोई व्यवस्था नहीं है।

सोशल डिस्टेंसिंग है सबसे बड़ी चुनौती

कोरोना से लड़ने में सबसे बड़ी चुनौती सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए आम आदमी की रोज़मर्रा की जरुरतों को पूरा करने की है । इसमें कहीं पर भी चूक होती है तो कोरोना का विस्तार हो जाता है, मेरठ के सांसद का कहना है कि घर के अंदर सामान भी पहुंच जाए और सोशन डिस्टेंस भी बनी रहे तब जाकर कोरोना का फैलाव रुकेगा। गति बढ़ी नहीं है पर कोरोना खत्म तो नहीं हुआ है , सब्जी मंडियों में भी ये चुनौतियां हैं।

Tags:
Corona pandemic   |  Meerut   |  BJP   |  UP   |  Govt   |  Rajendra Agarwal

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP