Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

क्यों बन गया निजामुद्दीन का तब्लीगी मरकज कोरोना का घर!


Manmeet Singh
Manmeet Singh | 03 Apr, 2020 | 5:27 pm

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश में लागू किए गए लॉकडाउन के बीच बीते सोमवार को तेलंगाना से आई एक खबर ने हड़कंप मचा दिया। तेलंगाना में हुए छह लोगों की मौत की पड़ताल में पता चला कि ये सभी दिल्ली में हुए एक बड़े धार्मिक जलसे में शामिल होने के बाद घर लौटे थे। यह जलसा था तब्लीगी जमात, जो दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में आयोजित किया गया था। इस लॉकडाउन के बीच सरकार की परेशानियां तब और भी बढ़ गईं जब खबर आई कि इस तबलीगी जमात के सेंटर में बड़ी संख्या में लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए है।

Main
Points
मरकज में बड़ी संख्या में लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए
करीब 2000 से ज्यादा लोग मरकज में थे शामिल
मरकज में शामिल जमातीयों की तलाश जारी

निजामुद्दीन मरकज को पूरा खाली कराया गया

माना जा रहा है कि तबलीगी जमात में करीब 2000 से अधिक लोग शामिल हुए थे, जो न सिर्फ देश के अलग-अलग राज्य के थे, बल्कि पाकिस्तान, बांग्लादेश,  इंडोनेशिया समेत विदेशों के भी थे। मरकज से लोगों को निकालने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी और करीब 36 घंटे के ऑपरेशन के बाद 2,361 लोगों को वहां से निकाला गया। मंगलवार को मरकज का मामला सामने आने के बाद देश में मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिला। दिल्ली सरकार ने कहा कि निजामुद्दीन के तब्लीगी- ए-जमात के मरकज को पूरी तरह खाली करा लिया गया और मरकज़ से निकाले गए 2,361 लोगों में से 617 अस्पताल में भर्ती हैं और बाकियों को क्वारंटाइन किया गया है। एक तरफ तो इस माहौल में देशभर में भ्रमण कर जमातियों ने कोरोना संक्रमण के मामले को बढ़ाया है वहीं दूसरी तरफ जब स्वास्थ्य विभाग ने इनकी जाँच कर इलाज करने की कोशिश की तो बाते ऐसी भी सामने आ रही है की इन्होंने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार भी किया। चिकित्सकों के साथ जाँच में सहयोग नहीं करने की बात भी आ रही है।

कोरोना संक्रमण के तार जुड़ रहे हैं मरकज से

तब्लीगी जमात में शामिल लोगों के भारत में विभिन्न राज्यों में फैलने के बाद कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। कल शाम तक राज्यों द्वारा आए रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी तक तकरीबन 400 ऐसे लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है जिनके तार निजामुद्दीन मरकज से जुड़े हुए है।

तब्लीगी जमात दे रही है सफाई

यहां धार्मिक आयोजन होना नया नहीं है लेकिन ये आयोजन उस वक़्त हुआ जब देश में कोरोना वायरस को लेकर हाहाकार मचा हुआ था। तबलीग़ी जमात का कहना है कि जनता कर्फ़्यू के एलान के साथ ही उन्होंने अपना धार्मिक कार्यक्रम रोक दिया था लेकिन पूरी तरह लॉकडाउन की घोषणा के कारण बड़ी संख्या में लोग वापस नहीं जा सके।

कई राज्यों से जुड़े हैं तार

मरकज में आए लोगों का सम्बंध दिल्ली, यूपी समेत 11 और राज्यों से जुड़ा है। उत्तर प्रदेश सरकार ने मरकज में शामिल 157 लोगों की नाम और संपर्क सूत्र सहित सूची भी जारी की तथा सम्बंधित लोगों की तलाश कर क्वॉरेंटाइन करने का आदेश भी दिया था। तबलीग के प्रवक्ता अशरफ  के मुताबिक निजामुद्दीन दरगाह में मजमा चार महीने से चल रहा था, इसे अचानक बीच में रोका नहीं जा सकता था।

Tags:
Corona Virus   |  fightagainst corona   |  tabligijamaat   |  @nizamuddinmarkaz

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP