Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

गर्मी कुछ नहीं बिगाड़ सकती कोरोना वायरस का! गर्म देशों में बढ़ रहे हैं तेजी से मामले!

गर्म देशों में ढाई, चार, और सात दिन में संक्रमण के मामले हो रहे है डबल। ब्राज़ील में 26 डिग्री औसत तापमान में हुए 16 हजार संक्रमण के मामले। लैटिन देशों में इक्वाडोर में 7257 संक्रमण के नए मामले। इक्वाडोर में पांच दिनों में डबल हो रहे हैं संक्रमण के मामले

Archna Jha
Archna Jha | 17 Apr, 2020 | 3:35 pm

कोरोना संकट से जूझ रही पूरी दुनिया को इस बात की उम्मीद थी कि गर्मी के बढ़ते ही कोरोना संक्रमण से राहत मिल सकती है| लेकिन कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखकर यह उम्मीद झूठी साबित हो गई| कोरोना वायरस ने शुरुआती 90 दिनों तक अधिक ठन्डे मौसम वाले देशों में पहले तेजी से फैला और इस वजह से ठन्डे देशों में ज्यादा मौतें भी भी हुईं| लेकिन पिछले कुछ दिनों से इसके ट्रेंड में बदलाव आया है| ठन्डे देशों के साथ अब गर्म देशों में भी कोरोना दोगुना रफ़्तार से फ़ैल रहा है|

Main
Points
गर्म देशों में भी तेजी से बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण
गर्म मौसम से भी नहीं भागेगा कोरोना वायरस
गर्म देशों में ढाई, चार, और सात दिन में संक्रमण के मामले हो रहे है डबल
ब्राज़ील में 26 डिग्री औसत तापमान में हुए 16 हजार संक्रमण के मामले
लैटिन देशों में इक्वाडोर में 7257 संक्रमण के नए मामले

अप्रैल के पहले दो हफ़्तों में औसत तापमान

लैटिन अमेरिका, अफ्रीका और दक्षिण-पश्चिम और दक्षिण-पूर्व एशिया जहाँ गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है और औसत तापमान 20 से 40 डिग्री तक है|  इसके बावजूद भी कुछ गर्म देशों में कोरोना वायरस के मामले ढाई दिन, चार दिन और साथ दिन में ही डबल हो जा रहे हैं|  अगर भारत की बात करें तो यहाँ 1 से भी 12 अप्रैल तक औसत तापमान 32 डिग्री रहा है, 1 से 12 अप्रैल तक यहाँ 7800 से अधिक संक्रमण के मामले बढे हैं| ब्राज़ील में भी कुछ इसी तरह 1 से 12 अप्रैल तक औसत तापमान 26 डिग्री रहा और यहां 12 दिनों में 16 हजार से ज्यादा संक्रमण के मामले बढे हैं|

लैटिन अमेरिकी देशों में बढ़ा कोरोना संक्रमण का रफ़्तार

लैटिन अमेरिकी देशों में कोरोना वायरस का रफ़्तार काफी बढ़ गया है| यहाँ ब्राजील में सबसे अधिक कोरोना संक्रमण के 21 हजार 42 मामले सामने आए हैं और सबसे ज्यादा 1144 लोगों की मौत भी यहीं हुई है| जानकारी के मुताबिक हर छह दिनों में ब्राज़ील में दोगुने मामले बढ़ रहे हैं|

इक्वाडोर में भी पहले से अधिक मामले

लैटिन देशों में दूसरे नंबर पर इक़्वाडोर है, यहां अब तक 7257 कोरोना संक्रमण के मामले आए हैं और करीब 315 लोगों की मौत हुई है| यहाँ हर पांचवें दिन कोरोना संक्रमण के दोगुने मामले बढ़ रहे हैं| लैटिन अमेरिकी अधिकांश देशों में दिन का तापमान 33 डिग्री और रात में 23 डिग्री दर्ज किया जा रहा है|

अफ़्रीकी महाद्वीप के अधिकांश देशों में भी संक्रमण के मामले में आई तेजी

अफ्रीका महाद्वीप के अधिकांश देशों में अप्रैल के पहले दो हफ़्तों में औसत तापमान 17 से 45 डिग्री तक रहा| अन्य महाद्वीपों के मुकाबले अफ्रिका महाद्वीप में अब तक सबसे कम कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं| लेकिन पिछले कुछ दिनों में यहां भी मरीजों की संख्या काफ़ी बढ़ गई है| सबसे अधिक 2028 संक्रमण के मामले दक्षिण अफ्रीका में आए हैं और इन दिनों संक्रमण के वजह से सबसे अधिक मौतें 275 मौतें अल्जीरिया में हुई है| सबसे ज्यादा रफ़्तार से नाइजर में संक्रमण फ़ैल रहा है| यहाँ तीन दिन बाद कोरोना मामले डबल हो रहे हैं और मिश्र में 8 दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले दोगुने हो रहे हैं|

अप्रैल के पहले 2 हफ़्तों में बढे संक्रमण के मामले

दक्षिण-पूर्व और दक्षिण-पश्चिम एशियाई देशों में अन्य एशियाई देशों की तुलना में गर्मी अधिक पड़ती है| अप्रैल के पहले दो हफ़्तों में इन देशों में अप्रैल के पहले दो हफ़्तों में औसत तापमान 20 से 41 डिग्री तक रहा है| कोरोना के सबसे अधिक 10878 मामले इजरायल में सामने आए हैं जबकि सबसे अधिक मौतें 373 लोगों की मौत इंडोनेशिया में हुई है|

भारत और बांग्लादेश में तेज हुई कोरोना की रफ़्तार

गर्मजलवायु में भी कोरोना मरीजों की संख्या सबसे अधिक रफ़्तार से बांग्लादेश और भारत में बढ़ रही है| बांग्लादेश में करीब हर दूसरे दिन कोरोना मरीजों की संख्या डबल हो रही है जबकि भारत में करीब चार दिनों में कोरोना के मामले डबल हो रहे हैं|

झूठ है की तापमान बढ़ने से रुकेगा कोरोना संक्रमण

चीन, इटली स्पेन अमेरिका में कोरोना संक्रमण के मामले को बढ़ते देख लोगों ने खुद ही मान लिया था की तापमान बढ़ने पर कोरोना संक्रमण कम होगा जो की बिलकुल निराधार हैं जिसका कोई वैज्ञानिक सबूत नहीं है| यह एक तरह की झूठ और अफवाह है|

5 अप्रैल को WHO ने कहा अफवाह से बचें

WHO ने पांच अप्रैल एक बयान में कहा कि लोग इस तरह के अफवाह से बचें, गर्मी का मौसम भी कोरोना को खत्म नहीं कर पाएगा|  ज्यादा देर तक धूप में रहने और 25 डिग्री से ज्यादा तापमान कोविड-19 को फैलने से नहीं रोक सकते, इसलिए ऐसे अफवाहों से बचें।  WHO ने कहा चाहे कितनी भी अधिक धूप हो या गर्म मौसम हो, कोरोना किसी को भी हो सकता है|

Tags:
WHO   |  Corona world   |  Corona Virus,-cases   |  Brazil   |  cold weath

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP