Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

कैसे बचा यूपी का कैराना शहर, केवल 1 व्यक्ति के संक्रमण के बाद पूरा परिवार आईसोलेशन में


Ankit Mishra, Manmeet Singh
Ankit Mishra, Manmeet Singh | 28 Mar, 2020 | 12:00 am

प्राचीन काल में कर्णपुरी नाम से विख्यात उत्तर प्रदेश का कैराना लोकसभा क्षेत्र हरियाणा से सटा हुआ है। इस क्षेत्र में भी कोरोना वायरस से संक्रमित एक मामला सामने आया। इसके बाद संक्रमित व्यक्ति के पूरे परिवार की जांच कराई गई लेकिन परिवार के किसी भी सदस्य को संक्रमण नहीं पाया गया।

Main
Points
यूपी के पश्चिमी क्षेत्र के कैराना ज़िले में भी 1 कोरोना संक्रमित
संक्रमित व्यक्ति के पूरे परिवार को आईसोलेशन में रखा गया
बेहतर स्वास्थ्य‌ सुविधाओं के लिए सांसद ने दिए 25 लाख
निचले स्तर के कर्मचारियों की लापरवाही की खबरें
सांसद प्रदीप कुमार लगातार प्रशासनिक अधिकारियों के संपर्क में

कैराना के कोरोना पीड़ित के संपर्क में सहारनपुर का भी एक युवक आया था। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने युवक को जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया और इसके साथ ही पॉजीटिव मरीज के संपर्क में आए अन्य लोगों की जांच पड़ताल शुरू कर दी गई।

कैराना के सांसद प्रदीप कुमार के मुताबिक शुरुआती दिनों में लोगों को जागरूक करने में दिक्कत आई। अचानक हुए लॉकडाउन की वजह से लोग जगह जगह फंस गए थे जिस वजह से उन्हें भी तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ा।जिस कारण उन्होंने लगातार सांसद से संपर्क साध कर अपने मदद की गुहार लगाई। सांसद ने बताया कि स्थिति को देखते हुए उन्हें फिलहाल वहीं रोक कर जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई गई।

कैसी है स्वास्थ्य सुविधाएं ?

कैराना में अभी तक एक ही कोरोना पॉजिटिव मामला सामने आया है। उसके परिवार की जांच करने पर कोई भी संक्रमित नहीं पाया गया।

स्वास्थ सुविधाओं के बारे में बात करते हुए कैराना के सांसद प्रदीप कुमार ने बताया कि वह लगातार सहारनपुर व शामली जिले के सीएमओ, डीएम और एसडीएम से संपर्क में बने हुए हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं को और बेहतर बनाने के लिए उन्होंने अपनी सांसद निधि से 25 लाख रुपए का योगदान भी दिया है। इलाज के लिए इस लोकसभा क्षेत्र में शामली और सहारनपुर के जिला स्तर अस्पताल उपलब्ध है।

कर्मचारियों की लापरवाही?

यूं तो जिला और ब्लॉक लेवल पर तमाम अफसर मुस्तैदी से अपना काम कर रहे है लेकिन इसी बीच निचले स्तर के कुछ कर्मचारियों के लापरवाही बरतने की खबर आई हैं।

सांसद प्रदीप कुमार ने बताया कि बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सूचना देने में कुछ कर्मचारी कोताही बरत रहे है जिसके बाद मामले का संज्ञान लेते हुए सांसद ने खुद जिला प्रशासन के साथ मिल कर ऐसे व्यक्तियों को चिन्हित किया और उनकी जांच कराई।

जनता का सहयोग

जिला प्रशासन और मेडिकल टीम के साथ जनता का पूरा सहयोग देखने को मिला है। हालांकि इस बीच अन्य क्षेत्रों की तरह यहां भी ऊंचे दामों पर सामान की बिक्री की शिकायतें सामने आई है। इसके निवारण के लिए सांसद ब्लॉक, एसडीएम,  डीएम के स्तर के अधिकारियों से लगातार संपर्क में बने हुए है और विश्वास दिलाया है कुछ ही दिनों में इस समस्या से निजात पा लिया जाएगा। एक अच्छी बात सामने यह आई है कि पुलिस की बर्बरता और स्वास्थ्य कर्मियों से बदसलूकी की कोई खबर नही आई है।

Tags:

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP