Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

क्या कोरोना से निपटने के लिए तैयार है दिल्ली?


Parliamentary Business Team
Parliamentary Business Team | 24 Mar, 2020 | 12:00 am

कोरोना के कहर की वजह देश के दिल्ली समेत 30 राज्यों को भी लॉकडाउन कर दिया गया है। इसके प्रकोप को रोकने के लिए दिल्ली से सटे सभी राज्यवर्ती सीमाओं को सील कर दिया गया है। परिवहन के तमाम साधनों समेत दिल्ली की लाइफ लाइन कही जाने वाली दिल्ली मेट्रो को भी पूर्णतः बंद कर दिया गया है। इसी क्रम में दिल्ली पुलिस ने नागरिकता क़ानून के खिलाफ चल रहे देशव्यापी प्रदर्शन का केंद्र रहे शाहीन बाग़ के धरने को उखाड़ फेंका है।

दिल्ली में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 4 मार्च को सामने आया था। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सांख्यिकी के अनुसार 24 मार्च सुबह 08:45 तक दिल्ली में कोरोना संक्रमण के कुल 30 मामले दर्ज किये गए हैं जिसमें 1 विदेशी नागरिक भी शामिल है और 1 की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार 5 मरीज़ों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी।

Main
Points
पिछले 24 घंटे में कोई भी नया मामला नहीं
सांसद गौतम गंभीर निभा रहे है कोरोना रोकथाम में अहम भूमिका

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 21 मार्च को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में कोरोना संदिग्ध 143 लोग भर्ती हैं। 21 मार्च तक दिल्ली के हवाई अड्डे पर 208265 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गयी। इनमें 661 यात्रियों को सरकारी सुविधाओं के तहत क्वारंटाइन किया गया है और 10475 यात्रियों को उनके घरों में क्वारंटाइन किया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना संक्रमण का कोई भी नया मामला सामने नहीं आया है।

दिल्ली से लोकसभा के लिए कुल 7 सांसद चुने जाते है। इन सांसदों में देश के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री भी शामिल है।  अब इस महामारी की स्थिती में इन सांसदों की भी जिम्मेदारी अपने क्षेत्र के जनता के प्रति बनती है।

सांसदों को प्रतिवर्ष क्षेत्र में खर्च करने के लिए 5 करोड़ की राशि उपलब्ध होती है जिसे वह विकास से संबंधित कार्यो में खर्च कर सकते है। इस स्थिति में जहां देश में उपयुक्त स्वास्थ्य सुविधाओं की भारी कमी है वहां सांसद अपनी निधि का इस्तेमाल उसे आधुनिक बनाने में कर सकते हैं।

अब देखने वाली बात यह भी है कि अपने सांसद निधि के अलावा दिल्ली के मौजूदा सांसद इस कठिन घडी में जनता की मदद किस प्रकार करते हैं।

पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने अपने सांसद निधि से 50 लाख रूपये की सहायता राशि राज्य के अस्पताल को नए उपकरण खरीदने के लिए दिए और दिल्ली की जनता को इस महामारी से बचाने के लिए गौतम गंभीर फाउंडेशन मास्क भी बना रहा है। इसके अलावा भी सोशल मीडिया के तमाम प्लेटफार्म से जनता को जागरूक करने का भी काम किया है।

मनोज तिवारी ने अभी तक अपने सांसद निधि से कोई भी राशि इस महामारी से निपटने के लिए नही प्रदान की है। हालांकि सोशल मीडिया पर इनके अकाउंट के मुताबिक अपने लोक सभा क्षेत्र में सैनिटाइजर और मास्क का वितरण ज़रूर किया है।

वहीँ इनके अलावा बाकी सांसदों में मीनाक्षी लेखी, हंस राज हंस, परवेश सिंह साहिब, रमेश भिदुड़ी ने जनता के बीच जाकर उनको जागरूक करने का काम किया। इस कार्य के लिए इन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट का भी भरपूर इस्तेमाल किया।

Tags:

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP