Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

बॉयज़ लोकररूम नाम के इंस्टाग्राम हैंडल पर दिल्ली महिला आयोग ने की गिरफ़्तारी की मांग


Srishti Narwal
Srishti Narwal | 05 May, 2020 | 2:16 pm

दरअसल  सोशल नेटवर्किंग साइट बॉयज़ लोकररूम नाम के इंस्टाग्राम हैंडल पर एक चैट ग्रुप पर लकड़े, लड़कियों की फोटो पोस्ट कर अभर्द्र टिप्पणियां कर रहे है और  रेप को बढ़ावा देने की बात कर रहे है । जिस पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर इंस्टाग्राम और दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा  और  साथ ही इसमें शामिल सभी  लड़कों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की है।

Main
Points
इंस्टाग्राम हैंडल पर एक चैट ग्रुप पर लकड़े, लड़कियों की फोटो पोस्ट कर अभर्द्र टिप्पणियां कर रहे है और रेप को बढ़ावा देने की बात कर रहे है
स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर इंस्टाग्राम और दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा
कुछ लड़कियों ने सोशल मीडिया पर इस ग्रुप चैट के कुछ स्क्रीनशॉट शेयर किए थे जिसके बाद ये मामला सबके सामने आया

ट्वीट में स्वाति मालीवाल ने  लिखा है कि  इंस्टाग्राम पर कुछ लड़कों ने 'बॉयज़ लॉकर रूम' नाम का एक ग्रुप बनया है जिस पर वो नाबालिग़ लड़कियों की आपत्तिजनक तस्वीरें शेयर कर रहे हैं और नाबालिग़ लड़कियों का रेप करने की योजनाएं भी बना रहे हैं।

जिसके चलते कुछ लड़कियों ने सोशल मीडिया पर इस ग्रुप चैट के कुछ स्क्रीनशॉट शेयर किए थे जिसके बाद ये मामला सबके सामने आया।

स्वाति मालीवाल ने उन्हीं स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए इस मामले में पुलिस और इंस्टाग्राम को नोटिस भेजा है और तुरंत एफ़आईआर दर्ज कर एक्शन लेने की मांग की है।

दिल्ली महिला अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के ट्वीट के बाद दिल्ली पुलिस भी फ़ौरन हरकत में आ गई  है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार साइबर क्राइम सेल ने मामले का संज्ञान लेते हुए जाँच करनी  शुरू कर दी है।

आपको बता दे हल ही में टाइम्स ऑफ़ इंडिया को दिए गए एक बयान में दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल के डीसीपी अन्येश रॉय ने बताया  कि "हमने इस मामले की जाँच का फ़ैसला किया है और एफ़आईआर दर्ज कर ली है। और बताया कि पुलिस के पास ग्रुप में शामिल लोगों की असल पहचान नहीं है । मगर सूत्रों जे मुताबिक एक 15 साल के लड़के को हिरासत में ले लिया गया है।

 

जिसके बाद देश के युवक  सख़्त कानून बनाए जाने की मांग कर रहे है ताकि  लोगों की मानसिकता बदली जाए। जिस तरह देश में महिलाओं को एक वस्तु की तरह देखना बंद किया जाए  और  यह तभी मुमकिन है जब सख्त कानून बना कर लोगो को सबक सिखाया जाएगा।

आपको बता दे भारतीय दंड संहिता के अनुसार इस तरह का अपराध करने वालो के ख़िलाफ़ 354ए और कहीं न कहीं 292 के प्रावधान भी लगाए जा सकते हैं।

कार्यवाही करते हुए पुलिस को इस मामले में इंस्टाग्राम से जानकारी लेनी पड़ेगी। सूचना प्रौद्योगिकी क़ानून के तहत इंस्टाग्राम नेटवर्क सर्विस प्रोवाइडर है जिसके चलते  वह से  जानकारी मिल सकती है।

साथ ही पुलिस को जहां से लॉगइन हुआ है उसका  आईपी एड्रस मिलने के बाद वो विभिन्न सर्विस प्रोवाइडर के ज़रिए पुलिस अपराधियों  तक भी पहुंच सकती है।

Tags:
oys   |  locker   |  room   |  INS   |  tacrime   |  cyber crime   |  reSAPA   |  ectwomen   |  crime   |  against   |  women   |  Delhi police

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP