Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKINGOUT OF

कोरोना प्राकृतिक या लैब में तैयार! सर्वे ने कोरोना पर उठाये सवाल!


Riya Rai
Riya Rai | 16 Apr, 2020 | 4:45 pm

वीडियो स्टोरी भी देखें

कोरोना वायरस पूरी दुनिया में अपना कहर बरपा रहा है| दुनिया के करीब 19 लाख, 80 हजार 51 से अधिक लोग इस वायरस के चपेट में आ चुके हैं और करीब 1 लाख 26 हजार 573 लोगों की जान जा चुकी है| इस वक्त पूरी दुनिया में सबसे अधिक असर अमेरिका में पड़ा है, यहां अब तक करीब 68 हजार 458 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और अमेरिका के करीब 25 हजार 992 लोगों की इस वायरस से संक्रमित होने के वजह से मौत हो चुकी है| अब तक दुनिया में इस वायरस को लेकर कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आ सकी है की यह वायरस कहां से आया जो पूरी दुनिया में फ़ैल चुका है।

Main
Points
पूरी दुनिया में 19,80,051 लाख के पार संक्रमित लोगों की संख्या
दुनिया में कोरोना से मौत का आंकड़ा 1,26,573 लाख के पार
अमेरिका के प्यू रिसर्च सेंटर ने करीब 8914 लोगों पर किया सर्वे
सर्वे में 29% लोगों ने कहा लैब में बनाया गया वायरस
अमेरिका के युवाओं का लैब साजिश थ्योरी पर भरोसा

वायरस प्रकृति में आया या बनाया गया!

इस बारे में अधिकांश वैज्ञानिकों का कहना है की कोरोना वायरस प्राकृतिक रूप से फैला है। वहीँ कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर कुछ लोगों का मानना है की कोरोना वायरस किसी साजिश का परिणाम है|  दुनिया के विभिन्न देशों के लोगों में इस वायरस को लेकर अनेकों तरह की ख़बरें फ़ैल रही हैं|

कोरोना वायरस और 5G तकनीकि कनेक्शन

ब्रिटेन में लोगों के बीच कोरोना वायरस और 5G वायरलेस तकनीकि के कनेक्शन की ख़बरें सामने आ रही है और ब्रिटेन के लगभग एक तिहाई लोग कोरोना वायरस आने का कारण एयर 5G तकनीकि कनेक्शन की बातों को मानते हैं|

प्यू रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट 

अमेरिका के प्यू रिसर्च सेंटर की एक ताजा रिपोर्ट में ये बात सामने आई है ये वायरस लैब में तैयार किया गया था। सर्वे में शामिल अमेरिका के एक तिहाई लोग यह मानते हैं की कोरोना वायरस को लैब में तैयार किया गया और जब ये वायरस फैलने लगा तो इसको रोकने का कोई तरीका नहीं मिला।

अमेरिका के 8914 लोगों पर प्यू का सर्वे

प्यू रिसर्च सेंटर के मुताबिक यह सर्वे अमेरिका के करीब 8914 लोगों से बात करके तैयार किया गया| सर्वे में शामिल 8914 लोगों से कुल चार प्रश्न पूछे गये,  सर्वे में पहला प्रश्न था कि

क्या कोरोना वायरस स्वाभाविक तरीके से आया था? 

क्या इसे जानबूझकर लैब में पैदा किया गया था? 

क्या कोरोना वायरस लैब में गलती से बन गया था? 

कोरोना वायरस वास्तव में जिन्दा है ता नहीं?

29% लोगों ने माना लैब में बनाया गया कोरोना वायरस

अमेरिका के प्यू रिसर्च सेंटर के रिपोर्ट के मुताबिक सर्वे में शामिल हुए 43% लोग मानते हैं की कोरोना वायरस स्वाभाविक तरीके से आया है| वहीं उस सर्वे में शामिल 29% लोगों का मानना था की इस वायरस को लैब में बनाया गया है| 23% लोगों का कहना है की यह वायरस लैब में जानबूझकर बनाया गया था| जबकि 1% लोगों का मानना था की वायरस जिन्दा ही नहीं है|

लैब साजिश थ्योरी पर युवाओं को भरोसा अधिक

रिपोर्ट के मुताबिक लैब में साजिश की थ्योरी पर भरोसा करने वाले सबसे अधिक लोग रिपब्लिकन पार्टी की तरफ झुकाव वाले लोग थे। वहीँ साजिश थ्योरी को मानने वाले 21% लोग डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ झुकाव वाले थे| रिसर्च में यह बात सामने आई है की वयस्कों के मुकाबले कुछ युवा कोरोना वायरस की साजिश वाली थ्योरी पर यकीन ज्यादा करते हैं| वही 65 साल या उससे अधिक उम्र वर्ग के वाले 21% लोगों की तुलना 18 से 29 साल की उम्र के करीब एक तिहाई युवाओं का मानना था की इस कोरोना वायरस को लैब में किसी साजिश के तहत पैदा किया गया|

Tags:
Corona   |  america   |  Coronaeffect   |  world   |  democretic   |  Party   |  republican   |  party   |  experts   |  research centre

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP