Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

गैस त्रासदी पार्ट-2

अभी लोग कोरोना का कहर झेल ही रहे थे कि आज सुबह एक और बड़े हादसे ने सबको दहला कर रख दिया है । आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक प्लास्टिक फैक्ट्री में आज सुबह गैस रिसाव होने से एक बड़ा हादसा हो गया। गैस लीक होने की घटना में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है। लॉकडाउन के कारण प्लांट बंद था। इस बड़ी घटना पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने गहरा शोक व्यक्त किया है साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय ने पूरी घटना पर नज़र बनाई हुई है ।इसके अलावा छत्तीसगढ़ में भी ऐसा ही एक गैस रिसाव का मामला सामने आया है।

Abhishek Dubey
Abhishek Dubey | 07 May, 2020 | 5:38 pm

विशाखापट्टनम के आरआर वेंकटपुरम गांव की एक फैक्ट्री में गैस रिसाव की यह घटना सामने आई। आरआर वेंकटपुरम गांव की एलजी पॉलिमर उद्योग में स्टाइरीन गैस रिसाव के बाद एक बच्चे सहित कम से कम सात लोगों की मौत हो गई है। एनडीआरएफ के महानिदेशक के मुताबिक 800 लोग फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं। हालात तो ये हो गये हैं कि लोग सड़को पर बेहोश होकर गिर रहे हैं। जहां तहां बहोश हुए लोगों को देखा जा सकता है ।

आंध्र प्रदेश के उद्योग मंत्री एमजी रेड्डी के मुताबिक कारखाने में गैस रिसाव की सूचना के बाद, लॉकडाउन प्रक्रिया तुरंत शुरू की गई थी। स्थानीय प्रशासन को सूचित किया गया। गैस को तुरंत हानिरहित तरल रूप में बेअसर किया गया। लेकिन थोड़ी गैस, फैक्ट्री परिसर से बाहर निकलकर आस-पास के इलाकों में पहुंच गई, जिससे लोग प्रभावित हो गए । उन्होंने कहा कि जो कंपनी इसे प्रबंधित कर रही थी, उसे इस घटना के लिए जिम्मेदार होना चाहिए। उन्हें आगे आना होगा और हमें यह बताना होगा कि किन प्रोटोकॉल का पालन किया गया था और किनका पालन नहीं किया गया था। ताकि उनके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जाएगी। साथ ही छत्तीसगढ़ के राजगढ़ में एक पेपर मील में गैस रिसाव के वजह से 3 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। खबर के मुताबिक मील के टैंक की सफाई करते वक्त गैस लीक हो गई । जिसकी चपेट में 7 लोग आ गए जिसमें 3 की हालत नाजुक है।

Main
Points
विशाखापट्टनम के आरआर वेंकटपुरम गांव में घटी बड़ी घटना
एक फैक्ट्री में गैस रिसाव से 7 लोगों की मौत, 800 लौग भर्ती
छत्तीसगढ़ के राजगढ़ में भी गैस लीक, 7 लोग चपेट में, 3 गंभीर
लॉकडाउन के कारण बंद था प्लांट,खोलने की हो रही थी तैयारी
राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने जाताया शोक, कहा हर संभव मदद को तैयार

घटना पर प्रधानमंत्री की पूरी नज़र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशाखापत्तनम की स्थिति के मद्देनजर एनडीएमए (राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण) की बैठक बुलाई है। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बैठक में मौजूद हैं।

एनडीआरएफ प्रमुख के अनुसार विशाखापत्तनम में गैस रिसाव की घटना एक प्लास्टिक फैक्ट्री में सामने आई। इस फैक्ट्री को लॉकडाउन के दौरान बंद कर दिया गया था। इसे फिर से खोलने की तैयार की जा रही थी।

प्रधानमंत्री ने आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री से भी बात की है और हर ज़रुरी मदद देने का आश्वासन दिया है ।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने जाताया दुख

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने विशाखापट्टनम गैस लीक घटना पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि विशाखापट्टनम के पास एक संयंत्र में गैस रिसाव की खबर से दुखी, जिसने कई लोगों की जान ले ली। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना। मैं घायलों के ठीक होने और सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं।

साथ ही राष्ट्रपति ने भरोसा भी जताया है कि स्थानिय प्रशासन जल्द ही स्थिति पर काबू पा लेगा और सबकुछ पहले जैसा हो जाएगा ।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जताया दुख

हादसे पर दुख जताते हुए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट किया है कि गैस लीक घटना के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ। मृतकों के परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं, मैं सभी की सलामती की प्रार्थना करता हूं। मैं पार्टी कार्यकर्ताओं से स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करते हुए प्रशासन के साथ समन्वय में हर संभव राहत प्रदान करने का अनुरोध करता हूं।

एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने ट्वीट किया है कि स्थानीय लोगों ने गले और त्वचा में जलन और कुछ विषाक्त संक्रमण की सूचना दी, फिर पुलिस और प्रशासन हरकत में आया। लगभग 1000-1500 लोगों को निकाला गया है, जिनमें से 800 से अधिक लोगों को अस्पताल ले जाया गया है। लगातार बचाव-राहत कोर्य जारी है।

एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने ये भी कहा है कि स्पेशन केमिकल एक्सिडेंट टीम मौके पर मौजूद है और लागातार राहत-बचाव का काम शुरु है । 

गृह मंत्रालय की पैनी नज़र

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि विशाखापट्टनम में हुई घटना परेशान करने वाली है। एनडीएमए के अधिकारियों और संबंधित अधिकारियों से बात की है। हम स्थिति पर लगातार और बारीकी से नजर रख रहे हैं। मैं विशाखापट्टनम के लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं।

घटना से जुड़ी प्रारंभिक रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि स्टाइरीन(Styrene) गैस के रिसाव से यह हादसा हुआ है। इस गैस को पीवीसी गैस के रूप में भी जाना जाता है। अबतक मिली जानकारी के अनुसार इस घटना से अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से एक मौत भागने की कोशिश में कुएं में गिरने से हुई है। आज सुबह लगभग 3:30 बजे यह घटना हुई। लागातार निकासी अभियान जारी है। आपको बता दें कि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण प्लांट बंद था और लॉकडाउन के खत्म होते ही प्लांट को खोलने की तैयारी थी ।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी जताया दुख

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि मैं विशाखापट्टनम की इस घटना से काफी दुखी हुं । मैं लोगों के जल्द सही होने की कामना करता हूं।

सीएम ने कहा, पूरी मदद करेंगे।

इस बीच आंध्र प्रदेश के सीएम सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी विशाखापट्टनम के लिए रवाना होंगे। वह किंग जॉर्ज अस्पताल जाएंगे जहां प्रभावितों का इलाज किया जा रहा है। मुख्यमंत्री स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और जिला मशीनरी को तत्काल कदम उठाने और सभी सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने विशाखापट्टनम में गैस रिसाव की घटना के बारे में पूछताछ की है और ज़िले के अधिकारियों को ज़िंदगी बचाने और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी विशाखापट्टनम की घटना पर ट्वीट कर दुख जताया है और कहा है कि मैने अपने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से हर संभव मदद करने के लिए कहा है और मैं प्रार्थना करता हूं कि लोग जल्द से जल्द स्वस्थ हों ।

गैस-रिसाव पर काबू

स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, फिलहाल गैस रिसाव पर काबू पा लिया गया है। जो गैस फैकट्री के अंदर मौजूद था उसे लीक्वीड में बदल कर निष्क्रिय कर दिया गया है ।जो गैस बाहर निकली थी उसी से हुआ नुकसान। गैस रिसाव का अधिकतम प्रभाव लगभग एक से डेढ़ किमी था।  सूत्रों के मुताबिक अस्पताल में भर्ती कुछ लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीमें तैनात हैं और रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। घटनास्थल पर पुलिस के साथ-साथ फायर टेंडर और एंबुलेंस मौजूद हैं।

छत्तीसगढ़ के राजगढ़ में भी गैस लीक का मामला 

छत्तीसगढ़ के राजगढ़ में एक पेपर मील में गैस रिसाव के वजह से 3 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। खबर के मुताबिक मील के टैंक की सफाई करते वक्त गैस लीक हो गई । जिसकी चपेट में 7 लोग आ गए जिसमें 3 की हालत नाजुक है।

Tags:
gas   |  Tragedy   |   gas   |  leakage   |  visakhapatnam   |  andhra pradesh   |  Lockdown   |  vizag

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP