Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

फिल्मों में हिट, संसद में एक्टिव, फिर क्षेत्र से क्यों नदारद रहते हैं रविकिशन

गोरखपुर के सांसद रविकिशन शुक्ला भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार हैं और बॉलीवुड में भी खासे एक्टिव रहते हैं। हालांकि वह अपने संसदीय क्षेत्र में बहुत कम जाते हैं और जनता अनदेखी की शिकायत करती है।

PB Desk
PB Desk | 31 Jul, 2020 | 5:43 pm

वादा तेरा वादा,वादे पे तेरे मैं मारा गया,बन्दा ये सीधा साधा,वादा तेरा वादा,ये लोकप्रिय संगीत आपको जरूर याद होगा इस कोरोना काल मे गोरखपुर की जनता भी अपने सांसद महोदय के द्वारा किये हुए वादे को याद कर रही है और अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रही है क्योंकि चुनाव के समय सांसद महोदय ने लोगो से बहूत से वादे किए थे सांसद महोदय का सबसे पहला वादा था वो गोरखपुर में रहेंगे यहीं आवास लें लेंगे लेकिन उनका यह वादा बेमानी साबित हो रहा है इस वैश्विक महामारी से जहाँ पूरा देश त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है वही गोरखपुर में भी कोरोना का संकट काफी गहरा गया है लोगो के कारोबार पर बुरा असर पड़ा है, गरीब गुरबा जो दो वक्त के खाने का इंतेज़ाम ठेला खुमचा लगाकर करते थे उनका भी रोजगार बन्द सा हो गया है।ऐसे में गोरखपुर की जनता अपने सांसद को पुकार रही है कहाँ है सांसद प्यारे।

Main
Points
गोरखपुर के सांसद रविकिशन का रिपोर्ट कार्ड
क्षेत्र से गायब रहने के गंभीर आरोप
स्थानीय लोगों ने सांसद से जताई नाराजगी

कोरोना के बीच सांसद गायब

लगातार गोरखपुर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती चली जा रही है। कुछ क्षेत्रों में लॉक डाउन भी लगा हुआ है। लोगों का हाल बेहाल है। ऐसे में भोजपुरी फिल्मों के स्टार व सांसद रविकिशन का गोरखपुर में न रहना लोगों को काफी खल रहा है। सांसद महोदय इस कोरोना काल मे अपने क्षेत्र में नही दिख रहे हैं।पूरे कोरोना काल मे सांसद रविकिशन जून माह में केवल एक सप्ताह के लिए गोरखपुर आये थे, फिर वापस मुम्बई चले गए। सांसद रविकिशन भोजपुरी फिल्मों के स्टार है हमेशा रील लाइफ जीते चले आए हैं लेकिन अब वो सांसद भी हैं। उनको ये समझना होगा कि रील लाइफ और रियल लाइफ में काफी अंतर होता है।

सोशल मीडिया पर दिखते हैं

सोशल मीडिया पर सांसद महोदय हमेशा दिखते रहते हैं और बीजेपी के कार्यकर्ताओं व जिले के अधिकारियों से गोरखपुर वासियों के लिए बात करते हुए दिखते हैं। वीडियो कॉल के जरिए दिशा-निर्देश भी देते हैं। बीते चार माह से कोरोना महामारी व अब बाढ़ भी जिले में उफान पर है। कई गांव जलमग्न हो गए हैं। किसानों की कई एकड़ फसल भी नष्ट हो चुकी है। ऐसे समय में खुद सांसद महोदय का अपने क्षेत्र की जनता के बीच उपस्थित न रहना लोगो को काफी खल रहा है। जब हमारे संवाददाता ने उनसे या उनके प्रतिनिधि से बात करने की कोशिश की तो शहर से बाहर होने के चलते उनसे संपर्क नही हो पाया।

किए थे बड़े बड़े चुनावी वादे

सांसद रवि किशन को चुनाव के समय लोगों ने यह सोच कर वोट किया था कि पूर्व सांसद व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नक्शेकदम पर ये चलेंगे और रोजाना लोगों से मिलेंगे। उनके दुख दर्द व जरूरतों पर हमेशा खड़े रहेंगे लेकिन अभी ऐसा लगता है कि सांसद रवि किशन पूर्व सांसद व वर्तमान में मुख्यमंत्री योगी की जगह नहीं ले पा रहे हैं। पूर्व सांसद योगी आदित्यनाथ रोजाना गोरखनाथ मन्दिर में आवास पर लोगों से मिलते थे और छोटे से छोटे कार्यों के लिए अधिकारियो को फोन करते थे। अपना पूरा समय गोरखपुर की जनता के लिए समर्पित करते थे। इस कोरोना काल व बाढ़ के समय सांसद रविकिशन का लोगों के बीच न रहना कितना जायज है, इसी मुद्दे को लेकर पार्लियामेंट्री बिजनेस की टीम कुछ समाजसेवी,कारोबारी, व ग्रामीणों के बीच पहुंची। हमारी टीम ने कारोबारी रंजन अग्रवाल, राहुल सिंह व समाजसेवी मित्र प्रकाश से सांसद के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि बहूत उम्मीद के साथ हम लोगों ने वोट किया था लेकिन सांसद महोदय हमेशा फिल्म नगरी मुम्बई में ही रहते हैं। ऐसा लगता है कि वो अपने फ़िल्म कारोबार में ही ज्यादा व्यस्त रहते हैं। उनको हमारे दुख दर्द से कोई लेना देना नहीं। हालांकि इन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इतने व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद गोरखपुर आते रहते हैं और कोरोना मामले में एम्स व रेलवे अस्पताल गए और गोरखपुर की जनता के लिए अधिकारियों को हमेशा जरूरी दिशा निर्देश देते रहते हैं। जब भी वह गोरखनाथ मंदिर परिसर में रहते हैं तो जनता दरबार लगाकर लोगो की समस्याओं का निराकरण कराते है। मित्र प्रकाश समाजसेवी ने सांसद रविकिशन की गौरमौजूदगी पर काफी नाराजगी जताई और कहा कि जनता यहां पेन में है और सांसद जी प्लेन का इंतजार कर रहे हैं। सांसद जी लाकडाउन में भी नहीं आए और बाद में भी काफी दबाव के बाद ही आए और वह भी प्लेन से। सांसद जी प्लेन से आते हैं, ट्रेन से नहीं आते जबकि प्रवासी मजदूरों को वह ट्रेन से भिजवाते हैं। हमें लगा कि अब वह आए हैं तो क्षेत्र में कुछ अच्छा काम करेंगे, लेकिन एेसा कुछ देखने को नहीं मिला।

समाज का हर वर्ग खफा दिखा 

कारोबारी, रंजन अग्रवाल का कहना था कि सांसद जी ने चुनाव के समय कहा था कि जनता के बीच रहेंगे और काम करेंगे लेकिन अभी तक उन्होंने अपने वादों के मुताबिक एक भी काम आगे नहीं बढ़ाया है। कुछ एेसा ही मानना है कि शहर के एक अन्य कारोबारी राहुल सिंह का। वह कहते हैं कि सांसद जी फिल्मी दुनिया के हैं और फिल्मी दुनिया में ही रहेंगे। उनको क्षेत्र की जनता से कोई मतलब नहीं है। गोरखपुर के एक किसान जोगिंदर का अंदाज तो और भी तल्ख दिखा। जोगिंदर ने सांसद जी के बारे में पूछने पर कहा कि लापता हैं सांसद जी। मुम्बई में रहते हैं। हम लोग यहां बाढ़ और मुश्किलों में जी रहे हैं। वह आते ही नहीं। और पूछने पर वह कहते हैं कि कभी अपना फेस दिखाएं सांसद जी, तब तो हम लोग उन्हें जानेंगे। एक अन्य शहरवासी नेहा शर्मा का कहना है कि सांसद जी को बालीवुड की नहीं क्षेत्र की फिक्र करनी चाहिए। आपको इसिलए जिताया गया ताकि आप मदद कीजिए। वहीं सपा नेता जफऱ अमीन ने भी सांसद की गैरहाजिरी पर निशान साधा। उन्होंने कहा कि रविकिशन ने बैशाखी के सहारे चुनाव लड़ा था और आज भी वही हालात हैं। चाहे बाढ़ हो, चाहे कोरोना हो, उनसे किसी प्रकार की उम्मीद गोरखपुर वालों को नहीं है।

बतौर सांसद लोकसभा में खासे सक्रिय

रविकिशन बतौर सांसद लोकसभा में खासे सक्रिय हैं और पार्लियामेंट्री बिजनेस पर उनकी परफॉर्मेंस काफी बेहतर है। उनकी नेशनल रैंकिंग 34 और लोकसभा रैंकिंग 23 है जिसे काफी अच्छा कहा जा सकता है। वह लोकसभा में अक्सर उपस्थित भी रहते हैं और उनका उपस्थिति रिकॉर्ड 85 परसेंट है। 

Tags:
Parliament   |  Social Media   |  Member Of Parliament   |  Covid-19   |  Lok Sabha   |  Gorakhpur

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP