Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

कोरोना के हल्के लक्षण दिखने पर करें होम आइसोलेट: स्वास्थ्य मंत्रालय

यदि कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से गंभीर रूप से बीमार है तो उसका इलाज अस्पताल में हो रहा है लेकिन इस बीच यदि किसी व्यक्ति को कोरोनावायरस से जुड़े हुए हल्के-फुल्के लक्षण विकसित होते हैं तो वह खुद को होम आइसोलेट कर सकता है। इस संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

Manmeet Singh
Manmeet Singh | 28 Apr, 2020 | 1:18 pm

जिस व्यक्ति में कोरोनावायरस के हल्के लक्षण हैं उनके संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्रालय ने होम आइसोलेशन से जुड़े हुए दिशा निर्देश जारी किए हैं। जो व्यक्ति कोरोनावायरस से संक्रमित है उसका इलाज अस्पताल में होगा लेकिन इस दौरान यदि किसी व्यक्ति को कोरोना से जुड़े हुए हल्के-फुल्के लक्षण विकसित होते हैं तो वह खुद को घर में ही आइसोलेट कर सकता है। ऐसे में 24 * 7 एक व्यक्ति मरीज के साथ रहेगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी को आरोग्य सेतु एप को भी डाउनलोड करने को कहा है।

Main
Points
होम आइसोलेशन के संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए दिशा-निर्देश
मरीज को भरना होगा अंडरटेकिंग , नियमों का करना होगा पालन
मरीज के साथ 24 * 7 मौजूद रहेगा एक व्यक्ति
घर के बूढ़े या बच्चे मरीज से बनाएं दूरी
साफ सफाई का रखें ध्यान,स्थिति बिगड़ने पर चिकित्सक को सूचित करें

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मरीज के साथ रह रहे व्यक्ति को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन प्रोफायलैक्सिस का भी सेवन करने की सलाह दी है। मरीज अपने सेहत की पल-पल की जानकारी डिस्ट्रिक्ट सर्विलेंस अफसर को देगा और साथ ही एक अंडरटेकिंग भी भरेगा जिसके तहत उसे होम आइसोलेशन के नियमों का पालन करना होगा।

मरीजों के लिए दिशा-निर्देश

जो भी व्यक्ति कोरोना के हलके लक्षण के बाद होम आइसोलेशन में है  उसे हमेशा तीन परत वाले वाले मास्क पहनना होगा।  मास्क को हर 8 घंटे में बदलते रहे। इस्तेमाल किए गए मास्क को फेंकने  से पहले सोडियम हाइपो क्लोराइट से साफ करें। मरीज़ को एक ही कमरे में रखा  जाना चाहिए। घर के बाकी सदस्य खासतौर से बच्चे बूढ़े या वह लोग जिन्हें उच्च रक्तचाप मधुमेह जैसी बीमारियां हैं मरीज से दूरी बनाकर रखें। तीमारदार यह सुनिश्चित करें कि  मरीज लगातार तरल पदार्थ का सेवन करता रहे और समय-समय पर हाथ को साबुन या सैनिटाइजर से साफ करता रहे। चिकित्सक के निर्देशों का सख्त पालन करना बेहद जरूरी है।

तीमारदारों के लिए निर्देश

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मरीज का ख्याल रखने वाले व्यक्ति के लिए भी निर्देश जारी किए हैं। उसके मुताबिक मरीज के साथ एक ही कमरे में रहते वक्त तिमरदार को तीन परत  मास्क पहनना जरूरी है। गंदा हो जाने के बाद मास्क को तुरंत फेंक दें । हाथ को अच्छे से धो लें और अपने चेहरे नाक और मुंह को छूने से बचें। अपने हाथ को अच्छे से कम से कम 40 सेकंड तक धुलें। मरीज के लिए खाना बनाने और खाने से पहले और बाद में हाथ को जरूर धुलें। कोरोना वायरस संक्रमित बीमारी है इसलिए तीमारदार या घर का कोई भी सदस्य मरीज के सीधे संपर्क में आने से बचे। मरीज को खाना उसके कमरे में ही परोसा जाना चाहिए। मरीज द्वारा इस्तेमाल किये गये बर्तन को दस्ताने पहनकर ही धुलें और बर्तन धुलने के बाद दस्तानों को निकाल कर हाथ को पुनः साफ करें। मरीज द्वारा इस्तेमाल किए गए कपड़े सामान्य सतह को साफ करते वक्त मास्क और दस्ताने जरूर पहने साथ ही साथ खुद की सेहत का भी ख्याल रखें।

कब ले चिकित्सीय सहायता

यदि व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ , छाती में लगातार दर्द या होंठ या चेहरे नीले पड़ या चेहरे नीले पड़ रहे हो तो फौरन किसी चिकित्सक को संपर्क करें।

Tags:
homeisolation   |  mohf   |  guideline

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP