Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKINGOUT OF

गृह मंत्रालय ने जारी किये दिशा-निर्देश, छोटे कारोबारियों को दी राहत

गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देश के मुताबिक अब कुछ शर्तों के साथ जरूरी और गैर-जरूरी सामानों की दुकानें भी खोली जा सकेंगी। हालाँकि इस गाइडलाइन से स्पष्ट है कि सिर्फ वही दुकानें खोली जाएंगी जो राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों के स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकृत हों। इस दौरान दुकानदारों को सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए मात्र 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ कार्य करने का निर्देश दिया गया है।

Ankit Mishra
Ankit Mishra | 25 Apr, 2020 | 3:12 pm

आज देश में लॉकडाउन को लागू हुए पूरे 1 महीने हो गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पिछले संबोधन में 20 अप्रैल के बाद कुछ क्षेत्रों में लॉकडाउन से राहत देने की बात कही थी। शुक्रवार को देर रात गृह मंत्रालय ने नए दिशा-निर्देश जारी कर लॉकडाउन से कुछ राहत दी है। यह राहत खासकर उन इलाकों के लिए है, जहां अभी तक एक भी कोरोना संक्रमण का मामला सामने नहीं आया है पर एहतियातन वहां लॉकडाउन का पालन हो रहा है।

Main
Points
आज देश में लॉकडाउन को लागू हुए पूरे 1 महीने हो गए
गृह मंत्रालय ने जारी किए दिशा-निर्देश, लॉकडाउन से दी कुछ राहत
कुछ शर्तों के साथ गैर-जरूरी सामानों की दुकानें भी खोली जा सकेंगी

क्या है दिशा-निर्देश

गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देश के मुताबिक अब कुछ शर्तों के साथ जरूरी और गैर-जरूरी सामानों की दुकानें भी खोली जा सकेंगी। हालाँकि इस गाइडलाइन से स्पष्ट है कि सिर्फ वही दुकानें खोली जाएंगी जो राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों के स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकृत हों। इस दौरान दुकानदारों को सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए मात्र 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ कार्य करने का निर्देश दिया गया है।

दुकान जो खुल सकेंगी

छोटे कारोबारियों को हो रहे नुकसान और आमजन को हो रही समस्या को ध्यान में रखते हुए गृह मंत्रालय ने धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाने का प्रयास किया है। इस आदेश के अनुसार ग्रामीण इलाकों में किसी भी प्रकार की कोई रोक नहीं होगी। वहां मॉल्स को छोड़कर सभी दुकानें खुली रहेंगी। हालाँकि शहरी क्षेत्रों के लिए अभी कुछ खास राहत की खबर नहीं है। शहरी इलाकों में सिर्फ स्टैंडअलोन शॉप्स, रिहायशी इलाकों की नजदीकी दुकानें और रिहायशी कॉम्पलेक्सों के भीतर स्थित दुकानों को ही खोले जाने की अनुमति दी गई है। अन्य सारी दुकानें फिलहाल बंद रहेंगी।

हॉटस्पॉट इलाकों में अब भी पूर्ण बंदी

गृह मंत्रालय के नए दिशा-निर्देश में हॉटस्पॉट क्षेत्रों को अब भी किसी प्रकार की कोई भी छूट नहीं मिली है। इन क्षेत्रों में अब भी पहले की तरह पूर्ण लॉकडाउन की स्थिति ही बनी रहेगी और जरुरी सामानों के अलावा किसी भी प्रकार की दुकानें नहीं खोली जाएंगी।

मॉल्स जाने के लिए करना पड़ेगा अभी इंतज़ार

गृह मंत्रालय के इस आदेश में अभी मल्टी और सिंगल ब्रांड के माल्स में मौजूद दुकानों को ये छूट नहीं मिलेगी। मॉल्स के अंदर या परिसर में मौजूद दुकानें अभी नहीं खुलेंगी। निगम क्षेत्र के मार्केट परिसर में मौजूद दुकानें भी अगले आदेश तक बंद रहेंगी। पिछले आदेशों में ई-कॉमर्स कंपनियों को जरुरी सामानों की डिलीवरी करने की छूट मिली थी। उनकी स्थिति में अब भी कोई बदलाव नहीं है और वह अभी गैर-जरूरी सामानों की डिलीवरी नहीं कर सकेंगी। 

वहीं तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों के आग्रह और दबाव बावजूद शराब की बिक्री पर रोक जारी रहेगी। दरअसल, राज्य के राजस्व का एक बड़ा हिस्सा शराब, तम्बाकू की बिक्री पर अर्जित किये गए कर से आता है। लॉकडाउन के कारण राज्य सरकार के खजाने पर भार वैसे भी बढ़ा है।

लोगों में है असमंजस

देर रात जारी हुए इस आदेश के बाद सुबह दुकानदार, प्रशासन समेत आमजनों में असमंजस की स्थिति बनी रही। दिल्ली के कुछ इलाकों में प्रशासन ने दुकानदारों को अपनी दुकान खोलने से रोका तो वहीं मुंबई हैदराबाद और वाराणसी में खुले दुकानों पर सामाजिक दूरी संबंधी नियमों की साफ़ अनदेखी हुई। नई गाइडलाइन को लेकर भ्रम की स्थिति को देखते हुए गृह मंत्रालय ने आज सुबह स्पष्टीकरण जारी तो किया पर ऊहापोह की स्थिति अब भी बरकरार है। हालाँकि उस नियमावली पर आखिरी फैसला राज्य सरकारों का होगा।

Tags:
Corona   |  Lockdown-2   |   mha

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP