Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

आईएमसीटी का गुजरात दौरा, व्यवस्था संतोषजनक

केंद्र द्वारा गठित आईएमसीटी ने गुजरात के सूरत और अहमदाबाद का दौरा कर वहां की स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। दल ने पाया कि वहां व्यवस्था संतोषजनक है और लॉकडाउन के नियमों का अच्छे से पालन हो रहा है।

Manmeet Singh
Manmeet Singh | 28 Apr, 2020 | 7:48 pm

केंद्र ने कोरोनावायरस से उपजी स्थिति और राज्यों द्वारा की गई व्यवस्था को जांचने एवं परखने के लिए आईएमसीटी का गठन किया है। यह टीम विभिन्न राज्यों का दौरा कर वहां की स्वास्थ्य सुविधाओं का आकलन करती है। इस क्रम में आईएमसीटी का दल सूरत और अहमदाबाद  पहुंचा और वहां की सुविधाओं और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मंगलवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में गृह मंत्रालय की प्रवक्ता सलिला श्रीवास्तव ने दल के अनुभव और फीडबैक साझा किए।

Main
Points
आईएमसीटी की टीम ने किया गुजरात का दौरा
स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का लिया जायजा
अधिकारियों संग बैठक कर दिए अपने सुझाव

सूरत

सूरत में टीम ने पाया कि वहां का प्रशासन आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर कोरोनावायरस के संक्रमण के मामलों की पहचान कर रहा है। संक्रमित मामलों की पहचान कर प्रशासन युद्ध स्तर पर जांच कर रहा है। टीम ने पाया कि संक्रमित मामलों को पहचानने के लिए घर-घर जाकर सर्वे , अस्पताल का डाटा और चुनाव आयोग से जुड़े आंकड़े का भी इस्तेमाल कर रहा है। इस दल ने जिले में कंटेनमेंट जोन , जांच की सुविधाओं एवं आदि जगहों का भी दौरा किया। टीम ने पाया कि लॉकडाउन का पालन अच्छे से हो रहा है। प्रवासी श्रमिकों के लिए प्रशासन और एनजीओ ने मिलकर फूड पैकेट का इंतजाम भी किया है। श्रमिकों को पिछले महीने का भुगतान कर दिया गया है। आईएमसीटी के दल ने सूरत में काठवाड़ा और नरोरा शेल्टर होम का भी दौरा किया। गौरतलब है कि प्रशासन ने जिले में 33 शेल्टर होम बनाए हैं। टीम ने वहां पर भी व्यवस्था संतोषजनक पाई।

अहमदाबाद

अहमदाबाद शहर में टीम ने अस्पताल  केयर सेंटर ब्लड डोनेशन कैंप का दौरा किया। टीम ने पाया कि शहर में व्यवस्था चाक-चौबंद है। लोग लॉकडाउन का पालन भी कर रहे हैं। पुलिस और प्रशासन साथ मिलकर स्थिति को संभाले हुए हैं। इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में भी सामाजिक दूरी का पालन हो रहा है। इस दौरान टीम ने अहमदाबाद में अनूठा प्रयोग पाया। शहर के गांव में ग्राम वासियों ने ग्राम योद्धा समिति का गठन किया है जिसमें सरपंच सहित गांव के अन्य लोग भी शामिल हैं। यह समिति रोजाना घर घर जाकर उनकी जरूरत की चीजे और अन्य जरूरी सहायता मुहैया कराती है। समिति यह सुनिश्चित करती है कि गांव में लॉकडाउन और सामाजिक दूरी का पूरी तरह से पालन हो। एक गांव में मौजूद मोबाइल टेस्टिंग लैब की भी टीम ने जांच की। दल के सदस्यों ने अस्पताल में मौजूद मरीज के रिश्तेदारों से बात कर वहां का हाल जाना।

सुझाव

दौरा पूर्ण  होने के बाद आईएमसीटी  के सदस्यों ने अधिकारियों संग बैठक कर अपने सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि श्रमिकों को कोरोनावायरस से जुड़ी जानकारी उन्हीं की भाषा में समझानी चाहिए। राज्य सरकार केंद्र के साथ मिलकर वल्लभभाई पटेल अस्पताल में मल्टीडिसीप्लिनरी रिसर्च यूनिट स्थापित करें जिससे कोरोना से संबंधित शोध कार्य एवं दवाइयों के निर्माण में प्रगति संभव हो सके। टीम ने भविष्य में बनाई जाने वाली योजनाओं की तरफ भी कदम उठाने पर जोर दिया। अहमदाबाद के तर्ज पर अन्य गांव में भी ग्राम योद्धा समिति बनाने का सुझाव दिया।

Tags:
IRCTC   |  surat   |  ahmeda bad   |  Corona

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP