Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

अमेरिका को बड़ा ठिकाना बनाया कोरोना ने, जानिए न्यूयार्क शहर के क्या हैं हाल!


Alisha
Alisha | 02 Apr, 2020 | 6:45 pm

न्यूयॉर्क बना अमेरिका का वुहान –

विश्व का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका भी इस समय कोरोना का ज़बरदस्त प्रकोप झेल रहा है। हालात ये हैं कि इस समय विश्व में सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमितों की संख्या अमेरिका में ही है। जहां संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 13 हज़ार के पार जा पहुंचा है। वहां ख़राब होते हालात का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कोरोना वायरस का गढ़ बन चुके अमेरिका में एक दिन में 884 लोगों की मौत हो गई है और अमेरिका में इस बीमारी से मरने वालों की तादाद 4475 जा पहुंची है। इनमें से भी सबसे ज़्यादा ख़राब हालात अमेरिका की आर्थिक राजधानी न्यूयॉर्क की है। अगर कहा जाए कि न्यूयॉर्क शहर, अमेरिका का वुहान बनकर उभरा है, तो ये ग़लत नहीं होगा।

Main
Points
विश्व में सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमित मरीज़ अमेरिका में
पूरे अमेरिका में न्यूयॉर्क शहर सबसे ज़्यादा संक्रमित
न्यूयॉर्क बना अमेरिका का वुहान, हर मिनट हो रहीं है मौत
डॉनल्ड ट्रम्प ने जताई चिंता, कहा- ‘आने वाले हफ्ते हैं बहुत कठिन’

कहते हैं कि इस शहर की रफ़्तार कभी नहीं थमती, 24 घंटे, सातों दिन, ये शहर वक़्त की तरह तेज़ी से दौड़ता है| लेकिन कोरोना वायरस ने न्यूयार्क शहर की रौनक को खत्म कर दिया है। आज यहां सड़कें वीरान हैं, बाज़ार खाली हैं और हर कोई घरों में कैद होकर कोरोना वायरस के प्रकोप के ख़त्म होने का इंतज़ार कर रहा है।

वुहान से आगे निकला न्यूयॉर्क

कोरोना के कहर से जूझ रहे अमेरिका के हालात डरावने हो चुके हैं। कोरोना की चपेट में आने के बाद अमेरिका में हर मिनट मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। हालात ये हैं कि न्यूयॉर्क ने विश्व में कोरोना के एपी सेंटर, चीन के वुहान को भी पीछे छोड़ दिया है। आज न्यूयॉर्क पूरी दुनिया में कोरोना का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट है। अकेले न्यूयॉर्क शहर में बुधवार तक 47,439 से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं, तो वहीं अबतक 1,374 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके चलते हुए न्यूयॉर्क के गवर्नर मेयर कुओमो ने शहर की हर आवाजाही पर प्रतिबन्ध लगा दिए और वहां आपातकाल घोषित कर दिया। न्यूयॉर्क में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उन्होंने कहा कि- ‘कोरोना वायरस बुलेट ट्रेन की तरह तेज़ी से पूरे शहर में फ़ैल रहा है।‘

आने वालों दो हफ्ते अमेरिका पर भारी

इस महामारी से सबसे ज़्यादा प्रभावित शहर न्यूयॉर्क में कोरोना के बढ़ते असर को देखकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प का कहना है की आने वाले दो हफ्ते अमेरिका के लिए खतरनाक होंगे क्योकि इस ख़तरनाक वायरस की चपेट में आने से 1 से 2.4 लाख लोगों की मौत हो सकती है।

न्यूयॉर्क की घनी आबादी बन रही है मौत का सबब

अमेरिका का न्यूयॉर्क शहर सबसे देश का ज़्यादा आबादी वाला शहर है। पर ये आबादी अपने आप में ख़तरनाक साबित हो रही है। शहर के कोने-कोने में बने फ्लैट्स में हज़ारों की तादात में लोग रहते हैं। अमेरिकी अख़बार न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे लेख में डॉ. गुडमेन कहते है कि  ‘ऐसी आबादी वाले शहर में ही कोरोना वायरस फैलने का खतरा ज़्यादा होता है। क्यूंकि एक समय पर बहुत सारे लोग आपस में मिल-जुलकर रह रहे होते हैं, जिससे वो एक दूसरे के संपर्क में आकर कोरोना को आमंत्रित करते हैं’।

ट्रंप की नजरअंदाजी का खामियाजा?

दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका आज कोरोना संक्रमितों का सबसे बड़ा केंद्र बन गया है। लेकिन इसकी वजह अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को माना जा रहा है। जानकारों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना के बढ़ते ख़तरे को ट्रंप लगातार नज़रअंदाज़ करते रहे हैं। हालात ये हैं कि विश्व में सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमितों के बावजूद ट्रंप ने अभी तक वहां लॉकडाउन जैसा सख़्त क़दम नहीं उठाया। अमेरिका में शुरू में कुछ जगहों पर सख़्ती बरती भी गई, लेकिन कुछ लोगों के विरोध के बाद क़दम वापस खींच लिए गए। जिसका नतीजा ये हुआ कि आज अमेरिका इस महामारी की ज़बरदस्त चपेट में है। जानकार इसके पीछे अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों को वजह मान रहे हैं। वो मानते हैं कि ट्रंप को अपनी कुर्सी जाने का ख़तरा सता रहा है। दरअसल ट्रंप को डर है कि लॉकडाउन जैसे सख़्त क़दम से अमेरिकी जनता को होने वाली परेशानी असर राष्ट्रपति चुनावों में उनके विपरीत जा सकता है। जिस कारण वो लगातार सख़्त क़दम उठाने से बचते नज़र आ रहे हैं। हालांकि अब जिस प्रकार वहां की स्थिति और भयावह होती जा रही है।

Tags:
Covid-19   |  Death Rate   |  Emergency   |  Population   |  Newyork   |  America   |  Corona ,out   |  breaking   |  America

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP