Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

डॉक्टरों की सुरक्षा पर हाय-तौबा करने वाले जानें क्या है भारत की तैयारियां!


Suyash Tripathi
Suyash Tripathi | 08 Apr, 2020 | 2:19 pm

विश्व भर में कोरोना का कहर आए दिन बढ़ता ही जा रहा है। दुनिया भर की मेडिकल टीमें लगातार रिसर्च के जरिए कोरोना का तोड़ खोजने में लगीं हैं। बढ़ते मरीजों की वजह से पर्याप्त मेडिकल किटस् जैसे- एन-95 मास्क, हैज़मैट सूट और पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट(पीपीई) डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को मुहैया नहीं हो पा रहे हैं। जिसके चलते कोरोना से जंग की रफ्तार धीमी पड़ रही है। भारत में कोरोना से अब तक 114 जानें जा चुकी हैं तो वहीं कोरोना की चपेट में 4421 लोग आ चुके हैं। बढ़ते केसों के कारण मेडिकल किटस् में कमी परेशानी का सबब बन सकती है। राहत की बात यह है कि इस संकट को भापंते हुए भारत सरकार ने पहले ही 112 लाख एन-95 मास्क और 157 लाख पीपीई किट्स के ऑर्डर दे दिए थे।

Main
Points
112 लाख एन-95 मास्क और 157 लाख पीपीई किट्स के दिए गए ऑर्डर
चीन से आई 1.70 लाख पीपीई किटस्
80 हजार मास्क हर दिन बनाएगी सरकार
अब तक 1,01,068 लाख सैंपल की हो चुकी है टेस्टिंग

चीन से आ रही हैं पीपीई किटस्

बता दें कि कोरोना को हराने वाले सबसे बड़े फाइटर डॉक्टर और दूसरे मेडिकल स्टाफ बने हैं। इनकी सुरक्षा के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट यानी पीपीई और एन-95 मास्क। इन दोनों ही आवश्यक चीजों की आपूर्ति हर गुजरते दिन के साथ बढ़ाई जा रही है और भविष्य के लिए भी बड़े पैमाने पर इनकी सप्लाई सुनिश्चित की गई है। भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि 112.76 लाख एन-95 मास्क और 157.32 लाख पीपीई किट्स के ऑर्डर दे दिए गए हैं। इनमें से 80 लाख पीपीई किट्स के साथ मास्क अलग से भी रखे गए हैं। इस तरह मास्क की संख्या और बढ़ जाएगी। सरकार ने ये बताया है कि फिलहाल पर्याप्त संख्या में किट्स और मास्क उपलब्ध हैं और हर हफ्ते 10 लाख पीपीई किट्स की सप्लाई हासिल करने का टारगेट भी रखा गया है। आयात की पहले खेप चीन से आ चुकी है। 6 अप्रैल को चीन से 1.70 लाख पीपीई की खेप सरकार को मिल चुकी है। जबकि 20 हजार पीपीई किट्स भारत में ही तैयार कर ली गई हैं। यानी फिलहाल 1.90 पीपीई किट्स तैयार हैं जिन्हें अस्पतालों में बांटा जाएगा। इन किट्स के अलावा देश में पहले से ही 3,87,473 पीपीई किट्स मौजूद हैं। इस तरह देश में फिलहाल कुल 5,77,473 पीपीई किट्स उपलब्ध हैं। चीन से 60 लाख पीपीई किट्स को लेकर एक और डील भी फाइनल स्टेज में पहुंच गई है।

हर दिन 80 हजार मास्क बनाने का है टारगेट

सरकार ने 80 लाख पीपीई किट्स (मास्क के साथ) का ऑर्डर सिंगापुर को भी दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि 80 लाख किट्स की डिलीवरी 11 अप्रैल से आनी शुरू हो जाएगी। पहली खेप में 2 लाख किट्स आनी हैं, जबकि उसके एक हफ्ते के भीतर 8 लाख किट्स और जाएंगी। भारत में फिलहाल पीपीई किट्स उत्तर रेलवे की तरफ से तैयार कराई जा रही हैं। डीआरडीओ ने भी मास्क और किट्स बनाए हैं। अब भारत में प्रोडक्शन बढ़ाया जा रहा है। सरकार की तरफ से हर दिन 80 हजार मास्क बनाने का टारगेट रखा गया है। कोरोना संक्रमण के टेस्ट की बात की जाए तो भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् यानी आईसीएमआर के मुताबिक, 6 अप्रैल की रात 9 बजे तक देशभर में कुल 1,01,068 लाख सैंपल टेस्ट किए गए हैं। इनमें से 4135 लोगों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 6 अप्रैल की रात 9 बजे तक एक दिन के अंदर 11,432 सैंपल की टेस्टिंग हुई, जिनमें से 311 केस पॉजिटिव पाए गए हैं।

Tags:
Corona pandemic   |  PPEkits   |  N-95   |  masks   |  Corona testing   |  Indian Gov   |  MoHFW

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP