Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

सेना ने जवानों की शहादत का लिया बदला, हिज़बुल का टॉप कमांडर ढेर

आतंक के पोस्टरबॉय के मारे जाने के बाद श्रीनगर समेत दक्षिणी कश्मीर में मोबाइल सेवाएं रोके जाने की ख़बरें आ रही हैं। बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में बिगड़े हालातों को ध्यान में रख प्रशासन ने यह फैसला लिया है। हालाँकि मुठभेड़ के बाद बेगपोरा और अवंतीपोरा से पत्थरबाजी की घटना सामने आई है।

PB Desk
PB Desk | 06 May, 2020 | 7:17 pm

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों और सेना के बीच चले मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाब हाथ लगी है। भारतीय सेना ने जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ एक ऑपरेशन चला बेगपोरा में हिज़बुल मुजाहिद्दीन के टॉप कमांडर रियाज नायकू को ढेर कर दिया है। सेना की लिस्ट में रियाज नायकू A++ कैटिगरी का आतंकवादी था और इसके ऊपर 12 लाख का इनाम घोषित था। 

Main
Points
बेगपोरा में सेना ने हिज़बुल के टॉप कमांडर रियाज नायकू को किया ढेर
A++ कैटिगरी के इस आतंकवादी पर था 12 लाख का इनाम
बुरहान वानी की मौत के बाद चर्चा में आया घाटी के युवाओं को उकसाता था।

कल रात से ही चल रही थी मुठभेड़ 

काफी लम्बे समय से नायकू की तलाश चल रही थी। मंगलवार को मिली इनपुट के अनुसार उसके अपने पैतृक गांव बेगपोरा में होने की सूचना सुरक्षाबलों को मिली जिसके बाद कल रात से ही सेना ने बेगपोरा की घेराबंदी कर एनकाउंटर अभियान शुरू किया था। रात 11 बजे शुरू हुए इस ऑपरेशन में 40 किलो आईडी का प्रयोग कर सेना ने उस घर को ही उड़ा दिया जिसमें नायकू छुपा हुआ था। उसके साथ मौजूद एक अन्य आतंकी को भी सेना ने मार गिराया। 

    

हंदवाड़ा में शहीद जवानों का लिया बदला 

रविवार को जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में एक एनकाउंटर में सेना के एक कर्नल और मेजर समेत 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। इस शहादत के दो दिनों के भीतर ही सुरक्षा बलों ने हिज़बुल के पोस्टरबॉय को मार गिराया। इसके अलावा पुलवामा के ही शहार इलाके के पम्पोर में सुरक्षा बलों ने आतंकियों के खिलाफ एक और ऑपरेशन चलाया। यहां दो आतंकवादियों के मारे जाने की खबर आ रही है। 

एहतियातन बंद है मोबाइल सर्विस 

आतंक के पोस्टरबॉय के मारे जाने के बाद श्रीनगर समेत दक्षिणी कश्मीर में मोबाइल सेवाएं रोके जाने की ख़बरें आ रही हैं। बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में बिगड़े हालातों को ध्यान में रख प्रशासन ने यह फैसला लिया है। हालाँकि मुठभेड़ के बाद बेगपोरा और अवंतीपोरा से पत्थरबाजी की घटना सामने आई है।    

कौन था नायकू 

रियाज़ नायकू 2016 में बुरहान वानी की मौत के बाद से चर्चा में आया था। बुरहान वानी के बाद इसे कश्मीर में आतंकवादियों का नया चेहरा माना जा रहा था। वानी की ही तरह यह भी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहता था। आईजी विजय कुमार के अनुसार नायकू कश्मीर के युवाओं को आतंकी संगठन में शामिल होने के लिए उकसाता था। 

पिछले साल सब्जार भट की मौत के बाद ही इसे हिज़बुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बनाया गया था। इससे पहले भी उसे कई बार भारतीय सेना ने घेरा था लेकिन वह बचकर निकलने में कामयाब हो जाता था।

हिज़बुल को टूटने से बचा चूका है 

2017 में जाकिर मूसा के हिजबुल मुजाहिद्दीन से अलग होने के बाद कश्मीर में हिज़बुल टूटने की कगार पर था। घाटी में हिज़बुल से टूट कर आतंकी अलग गुट बना रहे थे मगर मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक  नायकू ने ही हिजबुल को टूटने से बचाया था।

Tags:
Indian army   |  jk   |   riyaznaikoo   |  pulwama

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP