Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKINGOUT OF

CAA को कांग्रेस का बाहर से समर्थन!


Parliamentary Business Team
Parliamentary Business Team | 10 Apr, 2020 | 3:47 pm

वीडियो स्टोरी भी देखें

दुनिया कोरोना वायरस का भंयकर प्रकोप झेल रही है। दुनिया में अब तक लाखों लोगों को मौत के अंजाम तक पहुंचा चुका है कोरोना वायरस। दुनिया भर के लोग हर नफरत, घृणा, राजनीति, साजिश भूलकर केवल कोरोना से जंग लड़ने के लिए एक साथ खड़े हैं। कोरोना न महजब देख रहा है और न ही अमीरी, गरीबी...वो तो बस शिकार बना है रहा है। लेकिन हिन्दुस्तान में कुछ ऐसे संगठन और लोग भी है जो केवल राजनीति करना जानते हैं। वो उस हर मौके को भुनना चाहते हैं जहां उनको राजनीतिक फायदा दिखायी देता है। एक ऐसे ही मामले ने कुछ लोगों की मशांओं के सबूत दे दिए हैं। मामला पाकिस्तान से आये हिन्दू शरणार्थियों से जुड़ा है। धार्मिक प्रताड़ना सहते हुए, अपने घरों, जमीन, जायदाद को छोड़कर हिन्दुस्तान आये तो थे बड़ी उम्मीदें लेकर, लेकिन यहां भी केवल राजनीतिक फायदे और नुकसान का शिकार बन रहे हैं। लॉकडाउन के समय जहाँ एक तरफ़ लोग कंधे से कंधा मिलाकर एक दूसरे की मदद कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस पार्टी के लोग इस मदद में भी राजनीतिक स्वार्थ खोजने नार्थ दिल्ली के मजलिस इलाके में बसे हिन्दू शरणार्थियों की बस्ती में पहुंच गये।

Main
Points
पाकिस्तान से आए हिन्दू शरणार्थियों पर कांग्रेस की राजनीति
कांग्रेस ने किया था सीएए कानून का विरोध
कोरोना के बीच कांग्रेस का वोट पॉलिटिक्स

सरकार जिस सीएए (CAA) कानून से इन हिन्दू शरणार्थियों को मदद करने जा रही है, उसका  कांग्रेस पार्टी ने संसद के अंदर और बाहर जबदस्त विरोध किया था। लेकिन जब मौका वोटबैंक की राजनीति करने का आया तो यही कांग्रेस पार्टी के लोग पहुंच गये मजलिस पार्क इलाके में और मदद के नाम पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी के फोटो लगे राशन से भरे  थैले बांटने लगे। कांग्रेस के लोगों का दावा है, राशन से भरे इन एक-एक थैले में एक परिवार के लिए 15 दिन के राशन था, लेकिन थैले की हकीकत जब खुली तो पता चला कि इससे 1-2 दिन भी गुजारा नहीं हो सकता। हालांकि पार्टी ने सोशल मीडिया में इस दया की वाहीवाही लूटने में जरा दी देरी नहीं लगाई। लेकिन अब ये हिन्दू शरणार्थी दान के पीछे की मंशा को भांपकर राशन के थैले वापस ले जाने की मांग कर रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी की मदद पर क्यों उठ रहे हैं सवाल!

दिल्ली के मजलिस इलाके में पाकिस्तान से आये करीब 1200 हिन्दू शरणार्थी महाराणा प्रताप बस्ती में रह रहे हैं। सीटीजन एमेंडमेंट एक्ट (CAA) के बाद पाकिस्तान से आये हिन्दू शरणार्थियों ने नार्थ दिल्ली के मजलिस पार्क इलाके में बस्ती बसा ली और सरकार से अपनी नागरिकता का इंतजार कर रहे हैं। ये वो हिन्दू शरणार्थी हैं जिन पर पाकिस्तान पर जुल्म हुए, इनकी जमीनें कब्जा कर ली गयीं, और इनके मकानों को कब्जा करके बद से बदतर जिंदगी जीने पर मजबूर कर दिया गया। इसी बस्ती में दो दिन पहले यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने करीब 165 परिवारों को राशन का थैला बांटा, जिसमें आटा, चीनी, तेल इत्यादि सामाग्री थी। स्थानीय लोगों का दावा है कि राशन बांटने वाले लोगों ने ये कहकर थैला दिया कि ये करीब 15 दिन का राशन है जबकि थैला खोलने के बाद उसमें महज 1-2 दिन का सामान ही निकला। खास बात ये थी कि राशन के उन थैलों पर कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी की बड़ी बड़ी तस्वीर भी लगाई गयी। थैले में सामान और उसको लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के दावे से ख़फ़ा लोगों ने अब ये मदद लेने से ही इंकार कर दिया है।

हिन्दू शरणार्थियों की मांग ‘नहीं चाहिए कांग्रेस की मदद’

CAA कानून पर कांग्रेस के विरोध से नाराज लोगों ने बस्ती में ही इसका विरोध शुरु कर दिया। लोगों ने इक्ठ्ठा होकर कांग्रेस पर मुसलमानों की तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि जब मोदी सरकार ने तीन देशों जिनमें पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश शामिल हैं, उनके अल्पसंख्यकों पर हुए धार्मिक अत्याचार के बाद भारत में शरण देने का फैसला किया तो सबसे ज्यादा विरोध ही कांग्रेस ने किया। अब जबकि हिन्दू शरणार्थियों का विरोध ही कांग्रेस कर रही थी, तब पाकिस्तान से भारत आये इन हिन्दू शरणार्थियों पर रहम दिखाने की वजह क्या है। लोगों ने विरोध करते हुए दान दिए गये थैलों को वापस ले जाने की मांग शुरु कर दी है।

कांग्रेस का दोहरा चरित्र

एक तरफ संसद और संसद के बाहर कांग्रेस CAA का विरोध कर रही थी, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना सहकर अपने वतन आये हिन्दू शरणार्थी को मदद के नाम पर अपना बनाकर वोट बैंक की राजनीति चमका रही है। आखिर कांग्रेस ये साफ क्यों नहीं कर पा रही कि संसद के भीतर तो आपका CAA को लेकर विरोध रहा था लेकिन बाहर उन्हीं हिन्दू शरणार्थियों को मदद देने का ड्रामा किया जा रहा है।

कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने ट्वीट करके वाहीवाही लूटी

कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने राहुल गांधी को टैग करते हुए ट्वीट किया कि “ भूखे का पेट भरना सबसे बड़े पुण्य है कल रात विस्थापित हिन्दु परिवारों के लिए खाद्य सामग्री की मदद मांगी और आज दिन में @DelhiPYC @srinivasiyc जी ने राशन मुहैया करवा दिया...श्री @RahulGandhi के दिखाऐ मार्ग पर चलते हुए रोज़ @IYC जिस तरह ज़रुरतमंदों की सहायता कर रही है वो प्रशंसनीय है”

कांग्रेस ने किया था CAA का विरोध

CAA के माध्यम से तीन देशों में धार्मिक प्रताड़ना झेल रहे हिंदू, सिख, इसाई, पारसी, बौद्ध और जैन समुदाय के लोगों को नागरिकता देना का ये कानून था जिसे लेकर कांग्रेस पार्टी ने संसद के भीतर और बाहर दोनों जगह जमकर विरोध किया था। कांग्रेस का कहना था कि इस एक्ट में मुस्लिमों को नहीं जोड़ा गया जो संवैधानिक ढ़ांचे के खिलाफ था। साथ ही कांग्रेस ने ये भी कहा था कि ये एक्ट देश को तोड़ने वाला कानून होगा।

Tags:
Corona pandemic   |  Congress   |  CAA   |  Vote   |  Politics   |  Sonia Gandhi   |  Rahul Gandhi

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP