Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

क्या आपके पति भी लॉकडाउन के समय ज़्यादा झगड़ा कर रहे हैं! लॉकडाउन बन रहा है घरेलू हिंसा की वजह!


Riya Rai
Riya Rai | 03 Apr, 2020 | 3:20 pm

दुनियाभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया| जिसके बाद देश के हर वर्ग के लोग सीमित संसाधनों के साथ अपने घरों में रहने को मजबूर हैं| देश के लोगों को रोजगार, व्यापार, आमदनी बंद होने से लेकर और भी तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है| इसके साथ ही लॉकडाउन के बाद से ही देश में घरेलू हिंसा के मामले में भी काफी इज़ाफा हुआ है| मिली जानकारी से ये सामने आया है की लॉकडाउन के वजह से घरेलू हिंसा की शिकायतों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है।

Main
Points
लॉक डाउन में घरेलू हिंसा की संख्या में बढ़ोतरी
महिलाएं हो रही हैं घरेलू हिंसा का शिकार
1 हफ्ते में NCW को मिली 58 शिकायतें
पंजाब, दिल्ली, यूपी से मिली ज्यादा शिकायतें
घरेलू हिंसा के मामलों की संख्या बढ़ने की संभावना

दिल्ली पुलिस के मुताबिक महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़े कॉल राजधानी दिल्ली में पहले के मुताबिक प्रतिदिन करीब 200 तक बढ़ गए हैं | लॉकडाउन के वजह से महिलाएं बहार निकल कर शिकायत नहीं कर पर रही हैं।

'पति निकालते हैं भड़ास'

दिल्ली के निज़ामुद्दीन इलाके से घरेलू हिंसा का एक मामला सामने आया है| घरेलू हिंसा से पीड़ित महिला का कहना है की पति पैन की दुकान में काम करते हैं और पीड़ित महिला घरेलू नौकर का काम करती है, उसकी दो छोटी बेटियां हैं| लॉक डाउन के बाद से पति हर रोज घर पर रहता है और पहले से ज्यादा अब घर में क्लेश करता है और पीड़ित महिला के साथ मारपीट करके अपनी भड़ास निकलता है| पीड़ित महिला का कहना है की घरेलू हिंसा उसके और उसके बच्चों के लिए महामारी से कही अधिक है।

पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश से आ रही हैं ज्यादा शिकायतें

वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग से जानकारी मिली है की NCW को 24 मार्च से अब तक करीब 59 शिकायतें ईमेल के द्वारा मिली हैं| NCW की चेयरपर्सन रेखा शर्मा का कहना है की घरेलू हिंसा के मामलो में इजाफा हुआ है। आदमी घर पर बैठकर महिलाओं पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं और यह प्रवृति खासकर पंजाब, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रही है जहां से हमें ऐसी शिकायतें मिली हैं।

नहीं पहुँच रही ग्रामीण महिलाओं की शिकायतें

महिला आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा के अनुसार राज्यों के सटीक आंकड़े तुरंत उपलब्ध नहीं हैं और अब तक जो शिकायतें मिली हैं वो ईमेल के द्वारा मिली हैं ।असली आंकड़ा और भी अधिक होने की संभावना है, क्योंकि समाज में निचले तबके की महिलाओं की शिकायतें बहुत है जो डाक के जरिए अपनी शिकायतें NCW को भेजती हैं| जो लॉक डाउन के वजह से नहीं पहुंच पा रही हैं।

राष्ट्रीय महिला आयोग की महिलाओं से आग्रह

NCW की चेयरपर्सन ने देश की महिलाओं से आग्रह किया है की यदि घरेलू हिंसा का सामना करती हैं तो पुलिस से संपर्क करने या राज्य महिला आयोग तक पहुचनें की कोशिश करें।

Tags:
Corona   |  India   |  Domesticviolence   |  NCW   |  Delhi   |  Panjab   |  Uttar Pradesh

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP