Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

भारत सरकार का बड़ा कदम, वेंटीलेटर और पीपीई पर लिया यह फैसला!


Manmeet Singh
Manmeet Singh | 11 Apr, 2020 | 2:33 pm

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए भारत सरकार हर संभव उपाय कर रही है। इसी क्रम में वित्त मंत्रालय ने एक बड़ा कदम उठाया है। कोविड -19 की स्थिति के संदर्भ में, वेंटिलेटर और अन्य वस्तुओं की तत्काल आवश्यकता पर विचार करते हुए, केंद्र सरकार ने तत्काल प्रभाव से, माल के आयात पर बेसिक सीमा शुल्क और स्वास्थ्य उपकर हटा लिया है।

Main
Points
वेंटिलेटर पीपीई फेस मास्क कर मुक्त
इन उपकरणों से हेल्थ सेस,सीमा शुल्क तत्काल प्रभाव से हटाया
30 सितंबर तक लागू रहेगा आदेश

कौन से उपकरण हुए करमुक्त

वित्त मंत्रालय के आदेश के मुताबिक वेंटिलेटर, फेस मास्क,सर्जिकल मास्क, पीपीई किट, कोरोना वायरस परीक्षण किट और इनके निर्माण में इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल के आयात पर लगने वाला बेसिक कस्टम ड्यूटी और हेल्थ सेस हटा लिया गया है।

वित्त मंत्रालय के अनुसार- "कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुये देश में वेंटीलेटर्स और दूसरी सामग्री की जरूरी आवश्यकता पर विचार के बाद केन्द्र सरकार ने इन सामानों पर स्वास्थ्य उपकर और मूल सीमा शुल्क से छूट दे दी है।’’

एक बड़ी मदद

स्वास्थ्य उपकरणों की बढ़ती मांग को देखते हुए भारत सहित दुनिया की तमाम सरकारी व गैर-सरकारी कंपनियां वेंटिलेटर और पीपीई का निर्माण तेजी से कर रही हैं। भारत सरकार जरूरतों को पूरा करने के लिए समस्त स्वास्थ्य उपकरणों का आयात भी करेगी। इस कदम से उत्पादक और उपभोक्ता दोनों ने राहत की सांस ली है।

कब तक मिलेगी छूट

वित्त मंत्रालय ने जानकारी दी कि यह छूट तत्काल प्रभाव से लागू होगी और इन उपकरणों को बनाने में इस्तेमाल होने वाले चीजों पर कस्टम ड्यूटी और हेल्थ सेस नहीं लिया जाएगा। सरकार ने यह भी साफ किया कि इन वस्तुओं पर यह छूट 30 सितंबर 2020 तक लागू तक रहेगीं।

भारत में कोरोना संक्रमण अब तक के 6412 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 512 का सफल इलाज किया गया और 199 लोगों की मौत हो गई।

Tags:
customduty   |  healthcess   |  Corona   |  Covid-19

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP