Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

औद्योगिक कंपनियों में अब होगा वर्क फ्रॉम होम


Srishti Narwal
Srishti Narwal | 01 May, 2020 | 5:40 pm

कोरोना संक्रमण  के कारण बदलते वैश्विक माहौल  और बिगड़ी अर्थव्यवस्था की वजह से   मजदूरों व कामगारों के सामने बड़ी चुनौती और संकट का समय आ खड़ा हुआ है। औद्योगिक इकाइयां तथा  कल-कारखानों में आने वाले समय में कार्य संस्कृति में परिवर्तन व रोजगार की संभावनाएं बदलेंगी।

Main
Points
सभी संस्थानों पर होगा तकनीकी विकास
वर्क फ्रॉम होम पर दिया जाएगा ज़ोर
काम पर ऑनलाइन रखी जाएगी निगरानी

जिसका  सीधा असर कामगारों पर पड़ेगा । आने वाले  समय में कार्यकुशल, दक्ष, तकनीक का बेहतर इस्तेमाल करने वाले कामगार ही किसी भी संस्थान की जरूरत बनेंगे । ऐसे में पुराने ढर्रे पर काम करने वाले लोगों की नौकरी छिन जाने का खतरा है। इस बात से  अर्थशास्त्री, मजदूर नेता और कंपनी प्रबंधन से जुड़े सभी लोग सहमत हैं।

 

कोरोना संकट में कंपनियां अपने काम करने  का तरीका बदल रहीं हैं। हर जगह कंपनियों के अधिकारी ऑनलाइन वर्चुअल मीटिंग कर रहे  है। नई तकनीकियों  की सहायता से काम की निगरानी की जा रही है और साथ ही बिलिंग सिस्टम जैसी कई चीजें अपनाई गयी  हैं। जिसका  सीधा असर मैनपावर पर पड़ेगा।

 

आपको बता दे की कोल्हान प्रमंडल के तीन जिलों पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां को मिलाकर कुल 3 हजार छोटी-बड़ी कंपनियां हैं। इनमे लगभग 5 लाख कामगार काम करते हैं। इन सभी कंपनियों में काम का तरीका बदल रहा है। इनमें नई तकनीकियों  का सहारा लिया जा रहा हैऔर  सारे  काम ऑनलाइन हो रहे हैं।

 

एलास्टिक वर्क प्लेस किया जाएगा विकसित जिसका  मतलब है  कभी भी  कहीं से भी काम किया जा सकेगा।

 

पूर्वी सिंहभूम के उपश्रमायुक्त राजेश प्रसाद का कहना है कि श्रम विभाग मजदूरों और कामगारों के हित के लिए काम करता है। संकट के समय में भी मजदूरों के हित की रक्षा करना विभाग की प्राथमिकता है। संकट के समय सभी कार्यस्थल पर बदलाव किए जाएंगे । इस चुनौती का सभी को डट के सामने करना  होगा।

बदलती परिस्थितियों में मजदूरों को भी बदलना होगा, संस्थान और श्रमिकों को लाभ होगा।

टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन के महामंत्री आरके सिंह ने बताया कि कोरोना के कारण बदलती परिस्तिथियों में कामगारों और मजदूरों को भी बदलना होगा। मजदूरों के लिए तकनिंक सीखनी होगी , आने वाली हर चुनौती का सभी को डट के सामने करते हुए  आगे बढ़ना होगा।

नौकरियों के कम होने का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है । दक्ष कर्मचारियों की  जरूरत बढ़ेगी। जिस से नए लोगो को भर्ती किया जाएगा।

Tags:
Corona   |  digital India   |  work   |  from   |  home   |  Covid-19   |  efficientlabour   |   labours day

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP