Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

दिहाड़ी मजदूरों के पलायन पर विपक्षी सांसदों ने कैसे किया सरकार पर हमला!


Riya Rai
Riya Rai | 28 Mar, 2020 | 9:40 pm

देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है| अब तक कुल 902 लोग इसकी चपेट में आ गए हैं। वहीँ करीब 20 लोगों की मौत हो चुकी है| हालांकि 83 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं| लॉक डाउन के बावजूद भारत में भी इसकी स्थिति और भयावह होती जा रही है| इसके चलते दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर पलायन करने वाले लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है| देश में पलायन की स्थिति को देखते हुए देश के कई नेताओं ने ट्विटर के माध्यम से लॉक डाउन के दौरान मदद की अपील की तो साथ ही सरकार की व्यवस्था पर सवाल भी खड़े किए तो किसी ने इन हालातों के लिए सरकार को जिम्मेदार बताया।

Main
Points
कोरोना से जंग में राजनेताओं का ट्विटर वार
पलायन को लेकर ट्विटर पर नेताओं की प्रतिक्रिया
राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा इस भयावह हालत की जिम्मेदार है सरकार
शशि थरूर ने भी पलायन को लेकर किया ट्वीट
कोंग्रेस नेता ने कहा मानव त्रासदी को रोकना सबसे जरुरी

ग़ाज़ियाबाद में NH24 पर हजारों की संख्या में लोगों के पालयन करने के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा-

" आज हमारे सैकड़ों भाई-बहनों को भूखे-प्यासे परिवार सहित अपने गांवों की ओर पैदल जाना पड़ रहा है| इस कठिन रास्ते पर आप में से जो भी उन्हें खाना-पानी, आसरा-सहारा दे सकें, कृपा करके दें, कांग्रेस कार्यकर्ताओं-नेताओं से अपील करता हूँ"।

इसके बाद राहुल गांधी ने एक और ट्वीट किया और इस भयावह स्थिति के लिये सरकार को जिम्मेदार ठहराया

राहुल गांधी का ट्वीट,

सरकार इस भयावह हालत की जिम्मेदार है। नागरिकों की ये दशा करना बहुत बड़ा अपराध है। आज संकट की इस घड़ी में हमारे भाइयों और बहनों को कम से कम सम्मान और सहारा तो मिलना ही चाहिए, सरकार जल्द से जल्द ठोस कदम उठाए ताकि ये एक बड़ी त्रासदी न बन जाए।

इसके बाद कांग्रेस के एक और नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया और प्रधान मंत्री को घेरते हुए लिखा, 

जिनको घर में बैठ बेचैनी होती है। इनसे पूछो घर जाने का कौतुहल,घर में तो इन्हें भी रहना है मोदी जी! मगर कोई घर तो पहुंचाए! 

आपको बता दे ट्विटर पर सरकार को घेरने के सिलसिले में कांग्रेस के एक और नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया और लिखा, 

आदरणीय प्रधानमंत्री जी, इस मानव त्रासदी को रोकना सबसे जरुरी है। दो सूत्र -: पूरा राशन, आधा वेतन| बस-भोजन-दवाई का इंतजाम , सुरक्षित घर पहुंचे हर इंसान।

इसके बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने  ट्वीट पर लिखा, 

दिल्ली के बॉर्डर पर त्रासदी स्थिति पैदा हो चुकी है। हजारों की संख्या में लोग अपने घरों की तरफ निकल पड़े हैं। कोई साधन नहीं, भोजन नहीं। कोरोना का आतंक, बेरोजगारी और भूख का भय इनके पैरों को घर गांव की ओर धकेल रहा है। मैं सरकार से प्रार्थना करती हूँ कि कृपया इनकी मदद कीजिए।

इसके अलावा प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक और ट्वीट किया जिसमे उन्होंने लॉक डाउन के दौरान पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए, प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा 

" हमें शर्म आनी चाहिए की हमने इन्हें इस  हाल में छोड़ दिया है, ये हमारे अपने हैं, मजदूर देश की रीढ़ की हड्डी है. कृपया इनकी मदद कीजिए 

वहीँ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कोरोना के ख़िलाफ़ जंग की लड़ाई में लॉकडाउन के दौरान पलायन कर रहे गरीबों और मजदूरों के हालात को लेकर ट्विटर पर लिखा 

“ आज प्रदेश की सड़कों पर जिस प्रकार लाखों लोग भूखे-प्यासे हैं और आपूर्ति के अभाव में जनता त्रस्त है, ऐसे में मुख्यमंत्री जी सपा सरकार के समय भोजन के लिए वितरित किए गये ‘समाजवादी राहत पैकेट’ को बांटने का निर्देश जिलाधिकारियों को जारी करें जिनके नियम भी बने हैं. चाहें तो नाम बदल दें।

इसके अलावा अखिलेश यादव ने पलायन कर रहे लोगों को लेकर एक और ट्वीट कर लिखा 

ऐसे मानसिक एवं शारीरिक दबाव के समय भोजन और काम के बिना बेघर लोगों का घर की ओर गमन स्वाभाविक है. सरकार द्वारा व्यवस्था की निरंतरता एवं दूरी बनाए रखते हुए लोगों को उनके घर तक पहुंचाना जरुरी है. ऐसे बीच में फंसे लोगों के भोजन, जांच और आवश्यकतानुसार इलाज की व्यवस्था भी होनी चाहिए।

Tags:
Corona   |  twitter   |  Rahul Gandhi   |  priyanka Gandhi   |  Akhilesh yadav   |   Shashi Tharoor   |  Randeep Surjewala   |  CM Yogi   |  PM Modi

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP