Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

14 सितंबर से संसद सत्र, 18 दिन के सत्र में नहीं होगी कोई भी छुट्टी

संसदीय मामलों की समिति ने आखिरकार संसद का मानसून सत्र आयोजित करने के लिए प्रस्ताव कर दिया है। सत्र की शुरुआत 14 सितंबर से होगी और एक अक्टूबर तक यह सत्र चलेगा। 18 दिवसीय सत्र के दौरान संसद के दोनों सदनों में कोरोना वायरस से बचने के लिए बहुत सावधानियां बरती जाएंगी। सत्र नियम समय से करीब 40 दिन देर से शुरू होगा।

PB Desk
PB Desk | 26 Aug, 2020 | 10:54 am

कोरोना महामारी के बीच संसद का बहुप्रतीक्षित मानसून सत्र 14 सितंबर से शुरू होने वाला है। संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति ने 14 सितंबर से एक अक्टूबर तक संसद सत्र चलाने का प्रस्ताव पेश किया है। 18 दिवसीय सत्र के दौरान संसद के दोनों सदनों में कोरोना वायरस से बचने के लिए बहुत सावधानियां बरती जाएंगी। एक और बेहद अहम व एेतिहासिक बात यह है कि इस सत्र में संसद की कार्यवाही बिना किसी छुट्टी के रोजाना चलेगी। एक सदन की कार्यवाही सुबह की पारी में चलेगी तो दूसरे सदन की कार्यवाही शाम की पारी में होगी। सोमवार से सत्र का आजाग होगा और 18 दिन के सत्र में दो शनिवार और दो रविवार भी होंगे लेकिन प्रस्ताव के अनुसार इस सत्र में कोई छुट्टी नहीं होगी यानी शनिवार और रविवार को भी सत्र का आयोजन होगा। सरकार ने प्रस्ताव भेज दिया है औऱ राष्ट्रपति की मंजूरी मिलते ही सत्र का आयोजन निश्चित हो जाएगा। सत्र में प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं कराने का भी प्रस्ताव किया गया है और इस पर पार्टियों से राय मांगी गई है। जानकारी के मुताबिक, लोकसभा की बैठक सुबह की पाली में और इसके दो घंटे बाद राज्यसभा की बैठक आयोजित करने का प्रस्ताव है।

Main
Points
संसद सत्र 14 सितंबर से शुरू करने का प्रस्ताव
सांसदों के बैठने की अलग -अलग व्यवस्था
प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं कराने की योजना

लोकसभा के सांसद राज्यसभा में, राज्यसभा के लोकसभा में

लोकसभा के सांसद लोकसभा के चैंबर के अलावा राज्यसभा के चेंबर और सेंट्रल हॉल में भी बैठे दिखाई पड़ेंगे. ऐसा इसलिए किया जाएगा, जिससे सत्र के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जा सके। नई व्यवस्था के चलते प्रधानमंत्री, दोनों सदनों में सदन के नेता और विपक्ष के नेताओं को छोड़कर सभी नेताओं के लिए आरक्षित सीटें बदल दी जाएंगी। संसद के इतिहास में 1952 के बाद सदस्यों के बैठने की व्यवस्था बदलेगी। राज्यसभा के 60 सदस्य राज्यसभा कक्ष में और 51 दीर्घाओं में बैठेंगे जबकि शेष 132 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था लोकसभा कक्ष में होगी। इस बार सदन में चार बड़ी डिस्प्ले स्क्रीन होंगी और चार दीर्घाओं में छह छोटी स्क्रीन लगाई जाएंगी। ऑडियो कंसोल की व्यवस्था की जाएगी।ऑडियो-वीडियो सिग्नल ट्रांसमिशन के लिए सदनों के मध्य विशेष तार बिछाए जाएंगे। पॉली कार्बोनेट शीट के जरिये सदन से गैलरी को अलग किया जाएगा।

पीएम और मंत्रियों के लिए ये होगी व्यवस्था

राज्यसभा में विभिन्न दलों को संबंधित संख्या के आधार पर राज्यसभा के चैंबर और दीर्घाओं में सीटें आवंटित की जाएंगी और शेष को लोकसभा के कक्ष में बैठाया जाएगा राज्यसभा कक्ष में प्रधानमंत्री, सदन के नेता, विपक्ष के नेता और अन्य दलों के नेताओं के लिए सीटें निर्धारित की जाएंगी। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवगौड़ा के अतिरिक्त रामविलास पासवान और रामदास आठवले भी यहां बैठेंगे। सत्ता पक्ष के बैठने के नियत स्थान पर अन्य मंत्रियों की सीटें सुनिश्चित होंगी।

छह महीने के अंतराल पर सत्र अनिवार्य

मार्च के महीने में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया था जिसे चरणबद्ध तरीके से खोला जा रहा है। अनलॉक-4 में छूट के बाद संसद की बैठक बुलाई जाएगी। इसके लिए दोनों सदनों में सदस्यों के बैठने के बंदोबस्त को लेकर विशेष सावधानियां बरती जा रही हैं। कोरोना वायरस से बचाव के लिए सदस्यों के बीच दूरी बनाए रखने के उद्देश्य से दोनों सदनों की गैलरियों और चैंबरों का उपयोग किया जाएगा। मालूम हो कि कोरोना संक्रमण की वजह से संसद का बजट सत्र अपने निर्धारित समय से पहले 23 मार्च को स्थगित कर दिया गया था। संसदीय प्रावधान के मुताबिक प्रत्येक छह महीने में संसद सत्र बुलाया जाना चाहिए।

सत्र से पहले होगा परीक्षण और फाइनल रिहर्सल

राज्यसभा सभापति एम. वेंकैया नायडू और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के बीच 17 जुलाई को हुई बैठक में सदन की गैलरी और चैंबर में सदस्यों के बैठने के बंदोबस्त के बारे में फैसला किया गया था। उसी दौरान प्रस्तावित प्रबंध की विस्तार से समीक्षा की गई थी। नायडू ने सभी अफसरों को अगस्त के तीसरे सप्ताह तक तैयारियों को निपटा लेने का निर्देश दिया था। उसके बाद फाइनल समीक्षा, परीक्षण और रिहर्सल किया जाना है।

Tags:
Monsoon Session   |  Parliament   |  Lok Sabha   |  Rajya Sabha

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP