Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

रिलायंस का मेगाप्लान कैसे करेगा इकॉनमी बूस्ट! जानिए

कोरोना की मार झेल रहे भारतीय अर्थव्यवस्था को रिलायंस दे सकता है सहारा। फेसबुक के साथ मिलकर रिलायंस ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म को भारतीय बाजार में लॉंच करने जा रहा है। वॉट्सऐप के जरिए किराना दुकानदारों को ग्राहकों से जोड़ेगा रिलायंस ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म।

Suyash Tripathi
Suyash Tripathi | 22 Apr, 2020 | 5:31 pm

कोरोना महामारी ने विश्व भर में एक बड़ी जनसंख्या को अपनी चपेट में ले लिया है। अब तक 25 लाख से ज्यादा लोग इस महामारी से ग्रसित हो चुके हैं, तो वहीं मरने वालों की संख्या 1.5 लाख के आंकड़े को पार कर चुकी है। वैश्विक अर्थव्यवस्था पर भी कोरोना ने खासा प्रभाव डाला है। संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक एवं सामाजिक मामलों के विभाग ने अंदेशा लगाया है कि कोरोना के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में 1% तक की गिरावट आ सकती है। भारतीय अर्थव्यवस्था को भी कोरोना के चलते करीब 7 से 8 लाख करोड़ रुपये का भारी नुक्सान झेलना पड़ सकता है। लॉकडाउन के चलते ज्यादातर कंपनियों में ताला लटका है, मैन्युफैक्चरिंग, प्रोडक्शन सब बंद है, सप्लाई चेन लगभग टूट ही चुकी है। ऐसे में ई-कॉमर्स सेक्टर एक मात्र ऐसा विकल्प है जिसमें दुनिया भर की बड़ी-बड़ी कंपनियां निवेश कर रहीं हैं। ई-कॉमर्स के जरिए सामाजिक दूरी को बरकरार रखना ज्यादा आसान है, जिसके चलते कंपनियां इस सेक्टर में निवेश करने का मन बना रहीं हैं।दिग्गज टेक कंपनी फेसबुक ने भारत के रिलायंस जियो में 43,574 करोड़ रुपये के निवेश का बड़ा सौदा किया है। इस निवेश के जरिए वॉट्सऐप से दुकानदारों-ग्राहकों को जोड़ने का प्रयास किया जाएगा।

Main
Points
कोरोना की मार से भारतीय अर्थव्यवस्था को उबारेगा रिलायंस
फेसबुक के साथ साझेदारी कर लॉंच करेगा ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म
रिलायंस रिटेल लिमिटेड और वॉट्सऐप के बीच हुई डील
फेसबुक रिलायंस जियो में 43,574 करोड़ रुपये का करेगा निवेश
वॉट्सऐप के जरिए दुकानदारों-ग्राहकों को जोड़ने का रहेगा प्रयाय

रिलायंस-फेसबुक की साझेदारी-

गौरतलब है कि रिलायंस रिटेल लिमिटेड और वॉट्सऐप के बीच एक डील हुई है, जिसमें फेसबुक ने रिलायंस जियो के 9.9 फीसदी शेयर को खरीद लिया है। इस डील में फेसबुक रिलायंस जियो में 43,574 करोड़ रुपये का निवेश करेगा। यह निवेश करोड़ों भारतीय किराना दुकानदारों और ग्राहकों को एक साथ वॉट्सऐप पर जोड़ने के लिए किया गया है। दरासल रिलायंस अपना नया ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म जियोमार्ट बनाया रही है। फेसबुक के साथ डील से उसके लिए फेसबुक मैसेंजर और वॉट्सऐप के द्वारा किराना दुकानदारों को सपोर्ट देना आसान हो जाएगा। रिलायंस ने जानकारी साझा करते हुए कहा कि, “भारतीय ग्राहकों की जरूरतों को बेहतर तरीके से पूरा करने के लिए लाखों छोटे दुकानदारों से साझेदारी करना जरुरी है, जिसके लिए दोनों कंपनियां मिलकर वॉट्सऐप के द्वारा लोगों के घरों तक किराने की सेवाओं को पहुचाने का प्रयास करेंगी।”

रिलायंस का मेगाप्लान-

बता दें कि भारतीय अर्थव्यवस्था में ई-कॉमर्स सेक्टर प्रतिवर्ष 1% यानि कुल जीडीपी में 32.02 बिलियन युएस डॉलर का योगदान करता है।ई-कॉमर्स सेक्टर के बढ़ते मांग को मद्देनजर रखते हुए पिछले साल 12 अगस्त को हुए एजीएम में मुकेश अंबानी ने कहा था कि रिलायंस जल्द ही किराना बाजार की सूरत बदलने जा रही है। रिलायंस की योजना है कि देश में दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन-टू-ऑफलाइन ई-कॉमर्स बाजार बनाया जाए। देश में लगभग तीन करोड़ किराना दुकानदार या व्यापारी हैं, जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर 20 करोड़ लोगों के जीवनयापन से जुड़े हुए हैं। कंपनी ने एजीएम में कहा था कि किराना स्टोर्स को रिलायंस सस्ते दामों पर प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन उपलब्ध कराएगी।

Tags:
Lockdown   |  Corona pandemic   |  Reliance   |  Facebook   |  WhatsApp   |  Ecommerce

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP