Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

फेसबुक के बाद एक अन्य अमेरिकी कंपनी का जियो में बड़ा निवेश, 1 फीसद की मिलेगी हिस्सेदारी

इससे पहले अप्रैल में सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म में 43,574 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा की थी। इस समझौते के तहत फेसबुक जियो प्लेटफॉर्म में 9.9 फीसद हिस्सेदारी खरीद रही है। सिल्वर लेक की यह डील फेसबुक डील के मुकाबले ज्यादा वैल्यूएशन पर हुई है।

Ankit Mishra
Ankit Mishra | 04 May, 2020 | 3:33 pm

अमेरिका की दिग्गज प्राइवेट इक्विटी कंपनी सिल्वर लेक पार्टनर्स (Silver Lake) ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries) की जियो प्लेटफॉर्म में एक फीसद हिस्सेदारी खरीदी है। फेसबुक के साथ हुई डील के दो हफ्ते से भी कम समय में जियो प्लेटफॉर्म की यह दूसरी डील है।

टेक्नोलॉजी इन्वेस्टमेंट के ग्लोबल लीडर सिल्वर लेक जियो प्लेटफॉर्म में 5,655.75 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इस निवेश से जियो प्लेटफॉर्म की इक्विटी वैल्यू 4.90 लाख करोड़ और एंटरप्राइज वैल्यू 5.15 लाख करोड़ हो गई है। साथ ही यह निवेश फेसबुक द्वारा किये निवेश के इक्विटी वेल्यूएशन के 12.5 फीसद प्रीमियम को दर्शाता है।

Main
Points
फेसबुक के साथ डील के दो हफ्ते में जियो की दूसरी बड़ी डील
सिल्वर लेक जियो प्लेटफॉर्म में करेगी 5,655.75 करोड़ रुपये का निवेश
2013 में सिल्वर लेक ने कंप्यूटर बनाने वाली कंपनी डेल का किया था अधिग्रहण

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंधन निदेशक मुकेश अंबानी ने इस डील पर कहा कि मुझे सभी भारतीयों के हित के लिए सिल्वर लेक को एक साझेदार के रूप में स्वागत करते हुए प्रसन्नता हो रही है। विश्व स्तर पर सिल्वर लेक, अग्रणी टेक्नोलॉजी कंपनियों के लिए एक मूल्यवान साझेदार है।

इस निवेश के बाद सिल्वर लेक के मैनेजिंग पार्टनर और सह-सीईओ एऑन डरबन ने जियो प्लेटफॉर्म को दुनिया की सबसे उल्लेखनीय कंपनियों में से एक बताया साथ ही बड़े पैमाने पर उपभोक्ताओं को कम लागत में डिजिटल सेवा प्रदान करने की असाधारण इंजीनियरिंग क्षमता के लिए जियो के नेतृत्व की तारीफ भी की।

इससे पहले अप्रैल में सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म में 43,574 करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की थी। इस समझौते के तहत फेसबुक जियो प्लेटफॉर्म में 9.9 फीसद हिस्सेदारी खरीद रही है। सिल्वर लेक की यह डील फेसबुक डील के मुकाबले ज्यादा वैल्यूएशन पर हुई है। मुकेश अंबानी अपनी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को कर्ज मुक्त करना चाहते हैं। रिलायंस पर अभी 1.61 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है।

बात अगर सिल्वर लेक की करें तो इस इन्वेस्टमेंट कंपनी ने 2013 में कंप्यूटर बनाने वाली दुनिया की अग्रणी कंपनी डेल का अधिग्रहण किया था। सिल्वर लेक का कंबाइंड AUM (एसेट्स अंडर मैनेजमेंट) 43 अरब डॉलर का है। कंपनी ने दुनिया भर में करीब 100 से ज्यादा इन्वेस्टमेंट किए हैं।

Tags:
jio   |  RIL   |  mukesh ambani   |  silverlake   |  Lockdow

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP