Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का आरोप, केंद्र सरकार नहीं दे रही है सुझावों पर ध्यान


Abhishek Dubey
Abhishek Dubey | 23 Apr, 2020 | 3:47 pm

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्लूसी) की बैठक में केंद्र पर कई आरोप लगाए । सोनिया ने पीपीई किट की कमी और गुणवत्ता पर सवाल ऊठाए साथ ही कहा कि देश में कोरोना टेस्टिंग अभी बहुत कम संख्या में हो रही है, यह काफी गंभीर मामला है।

Main
Points
सोनिया गांधी का आरोप - सुझावों को गंभीरता से नहीं ले रही केंद्र सरकार
सोनिया गांधी पीपीई किट की कमी का भी मामला उठाया
सोनिया गांधी की मांग गरीब मजदूरो के खाते में भेजे जाएं साढ़े सात-सात हजार रूपये

मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि हमने कई बार प्रधानमंत्री से कहा कि टेस्टिंग के अलावा कोई और विकल्प नहीं है। इसके बावजूद भी पूरे देश में टेस्टिंग कम हो रही है और पीपीई भी अच्छी क्वालिटी की नहीं है। हमने काफी सुझाव दिए है , लेकिन सरकार उनको अमल में लाने के लिए गंभीर नहीं दिख रही है।

मजदूरों को मिले साढ़े सात-सात हजार रूपये

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्लूसी) बैठक में सोनिया गांधी ने केंद्र से मांग की कि गरीबों, मजूदरों,किसानों के खाते में तत्काल साढ़े सात-सात हजार रुपये ट्रांसफर किए जाने चाहिए। साथ ही मजदूरों को खाद सुरक्षा मुहैया कराने के लिए तुरंत कदम उठाए जाएं। सोनिया ने कहा कि हमें कोरोना वॉरियर्स को सलाम करना चाहिए । बहुत सारे हमारे हेल्थ वर्कर, बिना जरूरी मेडिकल उपकरण के भी फील्ड पर काम कर रहे हैं। उनकी भी सुरक्षा पर ध्यान दे सरकार।

किसानों की भी समस्या का मुद्दा उठाया

किसानों का मामला उठाते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से देश के किसान सबसे अधिक परेशानी में हैं। फसलों की कमजोर और अस्पष्ट खरीद नीतियों के अलावा सप्लाई  चेन में आ रही दिक्कतों ने किसानों का बुरा हाल कर दिया है। उनकी समस्याओं का जल्द से जल्द दूर किया जाना चाहिए। खरीफ फसल के लिए भी किसानों को सुविधाएं मिलनी चाहिए।

प्रवासी मज़दूरों का भी मामला उठाया

सोनिया गांधी ने प्रवासी मजदूर का मामला उठाते हुए कहा कि वो अब भी फंसे हुए हैं, बेरोजगार हैं और घर लौटने के लिए परेशान हैं। वह सबसे कठिन दौर से गुजर रहे हैं। संकट के इस दौर में बचे रहने के लिए उन्हें खाद्य सुरक्षा और वित्तीय सुरक्षा तत्काल उपलब्ध कराया जाना चाहिए। तीन हफ्तों में महामारी तेजी से बढ़ी है। चाहे वह कोरोना का फैलाव हो या फिर गति।

Tags:
Corona   |  Sonia Gandhi   |  Congress   |  Modi govt   |  BJP,

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP