Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

USCIRF रिपोर्ट का खुलासा : भारत में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर बढे हमले


PB Desk
PB Desk | 29 Apr, 2020 | 6:51 pm

अमेरिकी  संस्था यूनाइटेड स्टेट्स कमीशन ऑन इंटरनेशनल रिलीजियस फ्रीडम (USCIRF) ने अपनी सालाना रिपोर्ट 2020 जारी कर की है। इस रिपोर्ट में संस्था ने भारत में धार्मिक आजादी को लेकर चिंता जताई है।  रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 में भारत में धार्मिक स्वतंत्रता की स्थितियों में भारी गिरावट आई है और धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमले बढ़ें है।

Main
Points
USCIRF ने जारी की अपनी सालाना रिपोर्ट 2020
संस्था ने भारत में धार्मिक आजादी को लेकर जताई चिंता
भारत में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमले बढ़ें है

संस्था  ने ट्वीट में कहा है कि  “साल 2004 के बाद ये पहली बार है जब USCIRF ने भारत को ‘कुछ ख़ास चिंताओं’ वाले देशों की सूची में शामिल करने का सुझाव दिया है। ” संस्था  ने खासतौर पर भारत के नागरिकता संशोधन कानून  को लेकर चिंता जताई है। संस्था की उपाध्यक्ष नेन्डिन माएज़ा ने कहा, “भारत के नागरिकता संशोधन क़ानून और एनआरसी से लाखों भारतीय मुसलमानों को हिरासत में लिए जाने, डिपोर्ट किए जाने और स्टेटलेस हो जाने का ख़तरा है।”

संस्था  ने भारत के अलावा जिन देशों को ‘कन्ट्रीज़ विद पर्टिक्युलर कंसर्न’ की श्रेणी में रखा गया है उनमें बर्मा, चीन, इरिटेरिया, ईरान, नाइजीरिया, उत्तर कोरिया, पाकिस्तान, रूस, सऊदी अरब, सीरिया, तजाकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और वियतनाम शामिल हैं। 

हालांकि भारत ने इस रिपोर्ट सिरे से खारिज कर दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘हम USCIRF की वार्षिक रिपोर्ट में भारत पर टिप्पणियों को खारिज करते हैं। ’ मंत्रालय ने कहा, ‘भारत के खिलाफ उसके ये पूर्वाग्रह वाले और पक्षपातपूर्ण बयान नए नहीं हैं, लेकिन इस मौके पर उसकी गलत बयानी नए लेवल पर पहुंच गई है।'

Tags:
Corona pandemic   |  USCIRF   |  Minorities   |  India   |   Indian ,Muslim   |  Ind Govt

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP