Your image is ready, you can save / share this image
Please wait!
#MPsPerformance


%
RANKOUT OF

कोटा में फंसे छात्रों पर ममता बनर्जी का अहम फैसला


Manmeet Singh
Manmeet Singh | 27 Apr, 2020 | 6:55 pm

वीडियो स्टोरी भी देखें

राजस्थान के कोटा से छात्रों के लौटने का सिलसिला लगातार जारी है। इस क्रम में कोटा में  फंसे जम्मू और कश्मीर के 369 छात्र सोमवार को अपने राज्य लौट आए। इन छात्रों में 213 छात्र कश्मीर के थे और बाकि जम्मू और लद्दाख क्षेत्र से थे। इनकी वापसी के लिए सरकार ने 15 बसें भेजी थीं।

Main
Points
कोटा में फंसे जम्मू कश्मीर के छात्र लौटे अपने राज्य
लौटने वाले छात्रों में से 213 छात्र कश्मीर से और बाकी जम्मू और लद्दाख से
स्क्रीनिंग के बाद कठुआ जिले के लखनपुर से अपने जिलों को जाएंगे छात्र

वापस लौटे छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी उसके बाद कठुआ जिले के लखनपुर से उन्हें उनके संबंधित जिलों को भेजा जाएगा। नियम के अनुसार छात्रों को उनके गृह जिले में ही क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। जम्मू कश्मीर  सरकार ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

बंगाल सरकार भी छात्रों को लाएगी वापस

इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी ट्वीट कर जानकारी दी कि बंगाल सरकार भी कोटा में फंसे हुए छात्रों को पश्चिम बंगाल वापस लाएगी। मुख्यमंत्री खुद इस मामले को व्यक्तिगत तौर पर देख रही हैं और उन्होंने छात्रों को भरोसा दिलाया है कि उन्हें वापस लाने की कवायद शुरू कर दी गई है और जल्द ही वह अपने राज्य को लौट आएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा - ''जब तक मैं हूं किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है। मैंने अफसरों को हर जरूरी कदम उठाने के निर्देश दे दिए हैं।''

ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल सरकार देश के किसी भी कोने में फंसे हर बंगाली नागरिक को राज्य में वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में हर संभव प्रयास किए जाएंगे और जरूरतमंदों की मदद के लिए सरकार हर संभव कदम उठाएगी।

कोटा में फंसे छात्र बने अहम मुद्दा

राजस्थान के कोटा में फंसे छात्र एक अहम मुद्दा बन गए हैं। उनकी राज्य वापसी पर राजनीति नित नया रंग ले रही है। एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश और असम की राज्य सरकारों ने बस भेजकर पहले ही छात्रों को वापस बुला लिया वहीं दूसरी तरफ नीतीश कुमार ने इसका विरोध किया था। उन्होंने कहा कि यह लॉकडाउन के विरुद्ध है और इससे स्थिति और खराब होगी जिसके चलते वह विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए थे। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ राज्यों के मुख्यमंत्रियों की हुई वीडियो कॉन्फ्रेंस सभा में भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोटा में फंसे छात्रों का मुद्दा उठाया। उन्होंने उस पर एक नीति बनाने की मांग की।

Tags:
Kota   |  students   |  West Bengal   |  Jammu Kashmir   |  Corona

Stories for you

SEARCH YOUR MP

Or

Selected MP